--Advertisement--

नियमितीकरण के लिए अधूरे दस्तावेज दो हफ्ते में जमा करें

प्रशासनिक रिपोर्टर | रायपुर नियमितीकरण के सभी दस्तावेजों की जांच के दौरान जिन लोगों के प्रमाण पत्र या किसी भी...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:35 AM IST
प्रशासनिक रिपोर्टर | रायपुर

नियमितीकरण के सभी दस्तावेजों की जांच के दौरान जिन लोगों के प्रमाण पत्र या किसी भी तरह के दस्तावेज कम हैं तो उन्हें दोबारा जमा करने के लिए दो हफ्ते का समय दिया गया है। अफसरों ने साफ कर दिया है कि दो हफ्ते के भीतर अधूरे दस्तावेज जमा नहीं किए गए तो आवेदन निरस्त कर दिए जाएंगे।

जिन लोगों के आवेदन में दस्तावेजों की कमी है उन्हें फोन करके सूचित किया जा रहा है। इसके अलावा आवेदन करने वाले नगर निवेश दफ्तर में जाकर भी दस्तावेजों की कमी की जानकारी ले सकते हैं। जिले में नियमितिकरण के लिए करीब 16 हजार आवेदन जमा किए गए हैं। इनमें से अब 4950 मामलों का नियमितिकरण कर दिया गया है। 11 हजार से ज्यादा मामले अभी भी लंबित हैं। लंबित मामलों की संख्या कम करने के लिए कलेक्टर ने हफ्ते में दो बार नियमितिकरण की बैठक बुलाने के निर्देश दिए हैं। हर बैठक में 300 से ज्यादा मामलों का निराकरण किया जा रहा है। समिति के अध्यक्ष और कलेक्टर ओपी चौधरी ने बताया कि कमर्शियल भवनों में पार्किंग और आवेदनों के साथ गूगल मैप नहीं होने पर आवेदन निरस्त कर दिया जाएगा।

अवैध निर्माण के नियमितीकरण के लिए मास्टर प्लान के अनुरुप नक्शा होना आवश्यक है। दस्तावेजों की जांच और साइट विजिट में लापरवाही करने वाले अफसरों पर कार्रवाई तय है। नियमितिकरण की बैठक में पिछले हफ्ते होटल वुड केस्टल को पार्किंग नहीं होने पर सील करने का मामला भी उठा। होटल संचालक की ओर से पार्किंग की व्यवस्था करने के लिए आवेदन भी दिया गया। इस पर कलेक्टर ने कहा कि होटल संचालक को पहले पार्किंग बनाना होगा। पार्किंग बनने का शपथ पत्र देने के बाज ही होटल को दोबारा खोला जा सकेगा। बिना पार्किंग बनाए होटल खोलने की अनुमति नहीं दी जाएगी। होटल की क्षमता के अनुसार पार्किंग बनाई गई है या नहीं इसकी जांच समिति के अफसर करेंगे।