• Home
  • Chhattisgarh News
  • Raipur News
  • News
  • गायत्री महायज्ञ: जगमगाए 51 सौ दीप आहुतियों से दिया संदेश-एक है ईश्वर
--Advertisement--

गायत्री महायज्ञ: जगमगाए 51 सौ दीप आहुतियों से दिया संदेश-एक है ईश्वर

गुढियारी के बिजली ऑफिस मैदान में चल रहे 24 कुंडीय गायत्री महायज्ञ में शनिवार को एक ईश्वर को समर्पित आहुतियां डाली...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 06:10 AM IST
गुढियारी के बिजली ऑफिस मैदान में चल रहे 24 कुंडीय गायत्री महायज्ञ में शनिवार को एक ईश्वर को समर्पित आहुतियां डाली गईं। हवन पूर्ण होने पर गायत्री परिवार ने 51 सौ दीप जलाकर महावीर जयंती का जश्न भी मनाया। साथ ही सवधर्म हिताय-सर्वधर्म सुखाय के उद्देश्य से हनुमान चालीसा का पाठ भी किया गया। यहां गायत्री परिवार के प्रमुख प्रबंध ट्रस्टी श्याम बैस ने कहा कि संत समागम का मुख्य उद्देश्य सभी धर्मों में समन्वय, धार्मिक समरसता को बढ़ावा देना है। भले ही धर्म को मानने वाले लोग अलग-अलग हो सकते हैं पर सबका मालिक एक है। हरिद्वार से पहुंचे ऋषि पुत्र ने कहा कि धार्मिक कार्यों में हमेशा आगे रहें। गलती से भी अधर्म का रूख न करें। धर्म के रास्ते में चलने पर आपको परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है पर इस राह का अंत परमसुख की प्राप्ति है। आयोजन समिति के प्रमुख दीनानाथ शर्मा ने कहा कि वेदों की मां गायत्री की कृपा से 24 कुंडीय गायत्री महायज्ञ बेहतर ढंग से संपन्न हो रहा है। हनुमान जयंती के मौके पर हनुमान चालीसा का पाठ कर प्रदेश की सुख-समृद्धि की कामना की गई। महायज्ञ के बाद संत समागम का कार्यक्रम भी हुआ। इसमें कबीर आश्रम, सकरी के संत गुरुजतन साहेब, सिख समुदाय के गुरु डॉ वासन मौजूद रहे। सम्मान समारोह में हरिराम यादव, उत्तम कुमार देवांगन, राधेश्याम तुरकर और मोहन उपारकर का सम्मान किया गया। इस दौरान जोन समन्वयक दिलीप पानीग्राही, जिला समन्वयक लच्छू निषाद, एकनाथ येवले, एस के राय, नीलकंठ साहू, मीडिया प्रभारी आरके शुक्ला मौजूद रहे।