Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» रमन का दावा- नवंबर में परीक्षा, पिछली बार सेकेंड आया, इस बार फर्स्ट आऊंगा

रमन का दावा- नवंबर में परीक्षा, पिछली बार सेकेंड आया, इस बार फर्स्ट आऊंगा

महीने भर चले लोक सुराज अभियान में अपनी सरकार के कामकाज की जमीना हकीकत परखने के बाद मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने दावा...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 06:10 AM IST

रमन का दावा- नवंबर में परीक्षा, पिछली बार सेकेंड आया, इस बार फर्स्ट आऊंगा
महीने भर चले लोक सुराज अभियान में अपनी सरकार के कामकाज की जमीना हकीकत परखने के बाद मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने दावा किया कि 2018 का चुनाव फाइनल परीक्षा है और वे इसमेंं फर्स्ट क्लास में पास होंगे। सीएम ने कहा कि मैंने 2003, 2008 और 2013 में परीक्षा पास की है। 49 में सेकंड क्लास होता है। अभी तक मैं सेकेंड क्लास में पास हुआ हूं। 65 में फर्स्ट क्लास होता है। कोशिश फर्स्ट क्लास आने की होगी। तीन बार इस परीक्षा को पास किया है। अगली बार भी पास करूंगा। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने छत्तीसगढ़ को मिशन 65 का टार्गेट दिया है। साफ है कि सीएम का अगला लक्ष्य प्रदेश में 49 सीटों से आगे अब 65 सीटों को जीतना है।

प्रदेश में एंटी इंकमबैंसी के सवाल पर सीएम ने कहा कि कहीं कोई इंकमबैंसी नहीं है। लोगों की शिकायतों में पिछले वर्षों के मुकाबले 19 फीसदी की कमी हुई है, जबकि 6 फीसदी डिमांड बढ़ गया है। जैसे जैसे डेवलपमेंट होता जाएगा वैसे-वैसे उत्सुकता बढ़ेगी। डिमांड आएगी। यह सकारात्मक संकेत है। मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया के मंच साझा न करने की अपील पर कहा कि यह प्रदेश की जनता का अभियान था। कई स्थानों पर कांग्रेस के नेता सुराज के समाधान शिविर में शामिल हुए हैं। उन्होंने कहा कि मंच साझा नहीं करने का मतलब खुद को विकास से अलग करना है। सीएम ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि इनका पूरा काम ट्वीटर और फेसबुक पर है। ट्वीटर और फेसबुक से राजनीति नहीं चलती। ये केवल वहीं तक सीमित हैं। प्रेस कांफ्रेंस करके मन की भड़ास मिटा लेते हैं। मैं चाहता हूं कि यह ऐसे ही चलता रहे। हम काम करते रहें। सीएम ने कहा कि हमने आचार संहिता घोषित होने तक की योजना बना रखी है।

अगले चार माह में खामिया खत्म कर दूंगा : रमन

राजनांदगांव | मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने लोक सुराज अभियान का समापन अपने विधानसभा मुख्यालय में शनिवार को किया। उन्होंने अपने सुराज अभियान के दौरे व इससे मिले फीडबैक को भी शेयर किया। डॉ. सिंह ने कहा कि सुराज के दौरान बहुत सी खामियों की भी जानकारी उन्हें मिली। इसमें मुख्य रूप से शौचालयों के निर्माण की अंतिम किस्त और पीएम आवास के लिए पात्र हितग्राहियों को अब तक मकान भी नहीं मिल सका है। उन्होंने इन खामियों को आगामी चार महीने में दूर करने की बात कही।

कई जिले कमजोर

रमन सिंह ने कहा कि लोक सुराज में जिलों की समीक्षा के दौरान मैंने पाया कि गरियाबंद समेत कई अन्य जिले योजनाओं के क्रियान्वयन में काफी पीछे हैं। समीक्षा के दौरान सभी के काम करने की पद्धति सामने आ जाती है। कुछ जिलों में परफार्मेंस में सुधार की बात सामने आई है। हमने हर जिले को अलग-अलग टास्क भी दिए हैं। इसमें से एक टास्क जो इनको चार महीनों में पूरा करना है। वह है बिजली। जून-जुलाई तक हर घर तक बिजली पहुंचाने का लक्ष्य है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×