Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» मजदूरों को पढ़ाई, शादी और इलाज के लिए बहुत कुछ मुफ्त सुविधाएं

मजदूरों को पढ़ाई, शादी और इलाज के लिए बहुत कुछ मुफ्त सुविधाएं

राज्य सरकार असंगठित कर्मकारों के बच्चों के लिए छात्रवृत्ति शुरू कर रही है। कक्षा पहली से लेकर स्नातकोत्तर एवं...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 06:10 AM IST

राज्य सरकार असंगठित कर्मकारों के बच्चों के लिए छात्रवृत्ति शुरू कर रही है। कक्षा पहली से लेकर स्नातकोत्तर एवं स्नातकोत्तर की व्यवसायिक परीक्षा में अध्ययन या शोध करने वाले बच्चों को 500 रुपए से पांच हजार तक वार्षिक प्रोत्साहन दिया जाएगा।

इसी प्रकार पंजीकृत महिला श्रमिकों को स्वयं के विवाह या एक बार पुनर्विवाह अथवा हितग्राही के धर्मज या विधिमान्य गोद ली गई 18 वर्ष से अधिक दो पुत्रियों के विवाह के लिए 15 हजार रुपए का अनुदान मिलेगा। असंगठित कर्मकारों के लिए प्रसूति सहायता योजना शुरू करने का निर्णय भी लिया गया है। पंजीकृत महिला कर्मकारों को बच्चे के जन्म के 90 दिन के भीतर जन्मप्रमाण पत्र प्रस्तुत करने पर दस हजार रुपए एकमुश्त अनुदान मिलेगा।

ये फैसले श्रममंत्री भईयालाल राजवाड़े की अध्यक्षता में मंगलवार को मंत्रालय में छत्तीसगढ़ असंगठित कर्मकार राज्य सामाजिक सुरक्षा मंडल की बैठक में लिए गए । यह अनुदान 53 प्रकार के प्रवर्गो में पंजीकृत असंगठित क्षेत्र के कर्मकारों और उनके बच्चों को दिया जाएगा।

बीमा योजना, इलाज के लिए 50 हजार

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना : सभी 53 प्रकार के प्रवर्गो में पंजीकृत असंगठित कर्मकारों को असंगठित कर्मकारों का बीमा प्रीमियम मंडल देगा। गंभीर चिकित्सा सहायता योजना : पंजीकृत सफाई कर्मकारों को किडनी, कैंसर, सिकलसेल, एनीमिया, हृदय रोग, एड्स एवं लकवा के इलाज के लिए 50 हजार रुपए की सहायता। ठेका श्रमिक एवं हमाल श्रमिकों को भी 50 हजार रुपए की चिकित्सा सहायता देने का निर्णय लिया गया है। नाई और धोबी के लिए आवश्यक उपकरण प्रदाय योजना : 1500 रुपए अनुदान देने का निर्णय। पंजीकृत घरेलू महिला कामगारों को सायकल देंगे। जूता-चप्पल, छतरी के लिए 500 रुपए नगद मिलेंगे। पुरुष हमालों के लिए जूता, हुक एवं महिलाओं को सूपा और टोकरी जेम की साइड में उपलब्ध नहीं होने के कारण पांच-पांच सौ रुपए नगद मिलेंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×