--Advertisement--

49 नर्सों का चयन, इसमें हार्ट की सर्जरी वाली केवल एक

एस्कार्ट हार्ट सेंटर से एडवांस कार्डियक इंस्टीट्यूट(एसीआई)हो चुके दिल के अस्पताल के लिए 51 में 49 नर्सों की चयन सूची...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 06:20 AM IST
एस्कार्ट हार्ट सेंटर से एडवांस कार्डियक इंस्टीट्यूट(एसीआई)हो चुके दिल के अस्पताल के लिए 51 में 49 नर्सों की चयन सूची जारी कर दी गई है। इसमें केवल एक नर्स कार्डियक सर्जरी में ट्रेनिंग प्राप्त है। बाकी दूसरे विभागों में एक्सपर्ट हैं। संविदा भर्ती होने के कारण 12 पुरुष नर्सों का भी चयन किया गया है।

इस भर्ती के बाद भी हार्ट के मरीजों की बायपास सर्जरी तुरंत शुरू होना संभव नहीं, क्योंकि अब तक दिल की सर्जरी में उपयोग होने वाली मशीनों की खरीदी के लिए टेंडर ही नहीं किया गया है। एसीआई में नर्सों की चयन सूची के साथ भर्ती की शुरुआत हो गई है। पता चला है कि 49 नर्सों में केवल एक नर्स को हार्ट सर्जरी विभाग में काम करने का अनुभव है। बाकी को ट्रेनिंग देनी होगी। डॉक्टरों का कहना है बायपास व ओपन हार्ट सर्जरी के दौरान व इसके बाद प्रशिक्षित नर्स की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। सर्जरी के बाद आईसीयू में मरीज की देखभाल प्रशिक्षित नर्स कर सकती है। डॉक्टरों का कहना है कि बायपास सर्जरी के पहले सभी नर्सों को बारी-बारी से ट्रेनिंग दी जाएगी। उसके बाद ही उनका उपयोग किया जा सकेगा। पिछले साल एक नवंबर को ओपीडी चालू हुई थी। अब तक पांच महीने गुजर गए हैं, लेकिन हार्ट लंग मशीन समेत जरूरी मशीन व उपकरणों के लिए टेंडर की प्रक्रिया शुरू नहीं हो पाई है।

यह जरूर है कि भर्ती नर्सों का उपयोग दूसरे विभागों में किया जा सकेगा। इससे वार्डों में कुछ हद तक नर्सों की कमी दूर हो जाएगी।

उधार के उपकरण के भरोसे ऑपरेशन

एसीआई में उधार के उपकरण से मरीजों के फेफड़े व हार्ट संबंधी छोटे व बड़े ऑपरेशन किए जा रहे हैं। ऑपरेशन थिएटर में केवल टेबल व लाइट है। एक 20 साल पुराना वेंटीलेटर भी है। कार्डियक सर्जरी विभाग के एचओडी डॉ. केके साहू व असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. निशांत चंदेल नियमित डॉक्टर हैं। वे अपने उपकरण लाते हैं। हार्ट लंग मशीन व जरूरी उपकरण के लिए 10 करोड़ मंजूर किया गया है। सब कुछ निर्धारित समय पर होने के बाद भी टेंडर प्रक्रिया पूरा होने में तीन से चार महीने लग जाते हैं। यानी जुलाई अगस्त में मशीन आने की संभावना है। उसके बाद ही ऑपरेशन शुरू हो सकेंगे।

सैनिक व दिव्यांग कोटा खाली

अस्पताल में 51 नर्सों की भर्ती की जानी है, लेकिन सैनिक व दिव्यांग कोटा का कोई नर्स नहीं मिला। दोनों पद खाली है। चयन सूची में अनारक्षित वर्ग से 26, एसटी से 9, ओबीसी व एससी कोटे से सात-सात नर्सों का चयन किया गया है। परफ्यूजिनिस्ट, अोटी टेक्नीशियन, पैरामेडिकल स्टाफ के खाली पदों के लिए अभी तक पात्र अभ्यर्थियों की सूची जारी नहीं की जा सकी है। सूची जारी होने के बाद दावा-आपत्ति मंगाई जाएगी। इस प्रक्रिया में अप्रैल बीतने की संभावना है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..