Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» Missing ITBP Jawan Had Given The Application - I Can Be Killed

गुमशुदा आईटीबीपी जवान ने दी थी अर्जी- मेरी हत्या की जा सकती है...

पत्नी से कोर्ट में चल रहा है विवाद, सुनवाई के दौरान दिया था आवेदन।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 11, 2017, 05:05 AM IST

  • गुमशुदा आईटीबीपी जवान ने दी थी अर्जी- मेरी हत्या की जा सकती है...
    रायपुर।रायपुर स्टेशन से गायब 4 नवंबर को गायब भारत-तिब्बत सीमा बल (आईटीबीपी) के हवलदार रामकुमार सराठे का कोई सुराग नहीं मिला है अलबत्ता खुलासा हुआ है कि उसने गायब होने के कई दिन पहले ही अपनी हत्या की आशंका जता दी थी। उसका पत्नी से विवाद चल रहा था। उसी दौरान उसने आवेदन देकर अपनी आशंका जाहिर की थी। उसके परिवार वाले 6 दिनों से पुलिस थानों के चक्कर काट रहे हैं। आवेदन लेने की औपचारिकता पूरी करने के अलावा जीआरपी उनकी कोई बात नहीं सुन रही है।
    - परिवार वाले बताना चाह रहे हैं कि जिस 4 नवंबर को जिस समय जवान रेलवे स्टेशन पर था, उसी दिन उसके ससुराल पक्ष के कई लोग वहां मौजूद थे। स्टेशन के वीडियो फुटेज में कई रिश्तेदार साफ नजर रहे हैं। इसके बावजूद पुलिस ने जवान के ससुराली रिश्तेदारों को कोई पूछताछ नहीं की है।
    - भास्कर कार्यालय पहुंचकर परिजनों ने बताया कि पुलिस ने स्टेशन में लगे कैमरे का फुटेज निकाला है। उसमें वह प्लेटफार्म पर नजर रहा है। उसके ससुराल वाले भी थोड़ी दूर पर दिखाई दे रहे है। हवलदार के भाई ओमप्रकाश के अनुसार 4 नवंबर को वह सुबह के समय रायपुर स्टेशन से इटारसी जाने के लिए कोंडागांव से आया।
    - 9 नवंबर तक घर नहीं पहुंच सका। रामकुमार पर जबलपुर कोर्ट में दहेज प्रताड़ना का केस चल रहा है। उसकी पत्नी उसे छोड़कर मायके चली गई। इसे लेकर उसका ससुराल वालों से कई बार विवाद भी हो चुका है। उसे हर महीने पेशी के लिए जबलपुर जाना पड़ता है। उसने पहले भी पुलिस को दिए आवेदन में आशंका जताई थी कि उसकी हत्या हो सकती है।
    - परिजनों का आरोप है कि पुलिस को पूरी घटना की जानकारी दी गई। फुटेज में दिख रहे लोगों की पहचान की गई। उसके साथ उसके मामा ससुर और परिवार वाले हैं, जो रास्ते में उनके भाई के साथ कुछ भी कर सकते हैं। रामकुमार का मोबाइल उसी दिन से बंद है। आखिरी लोकेशन रायपुर का है। फिर मोबाइल चालू नहीं हुआ है।
    रेलवे का मामला, इसलिए पुलिस ने हाथ किए खड़े
    हवलदारके परिजन शहर के कई थानों में शिकायत लेकर गए थे। उन्हें थाने से ही भगा दिया गया। पुलिस वालों ने उनकी शिकायत भी नहीं सुनी। पुलिस वालों का कहना है कि मामला रेलवे का है। जीआरपी पुलिस पूरी घटना की जांच कर रही है। इसमें स्थानीय पुलिस कुछ नहीं कर सकती है।
    अब तक केवल टीम बनाने की खानापूर्ति
    - जीआरपी ने अब तक इस संगीन मामले में केवल टीम ही बनाई है। प्रभारी के अनुसार जांच के लिए एक टीम बनाई है। उसे जबलपुर भेजा जाएगा। वहां उसके ससुराल वालों से पूछताछ करेगी। हवलदार के कॉल की डिटेल निकाले जा रहे हैं।
    - वह जिस ट्रेन से गया है, उसकी रूट में भी जांच की जाएगी। हवलदार की फोटो सभी स्टेशन में भेजी गई है। उसके बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। किसी भी स्टेशन में हवलदार को उतरते हुए नहीं देखा गया है। ही कहीं अब तक किसी अज्ञात व्यक्ति के शव मिलने की सूचना मिली है।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×