--Advertisement--

एटीएम में मदद करने के बहाने कार्ड बदला, खाते में लगाई सेंध

एक घंटे के भीतर भनपुरी और टाटीबंध चौक के पास के एटीएम में वारदात।

Dainik Bhaskar

Nov 17, 2017, 06:21 AM IST
Replace card on the pretext of helping ATMs,

रायपुर। राजधानी में एक घंटे के भीतर शहर के दो अलग-अलग इलाके एटीएम में मदद करने के बहाने दो लोगों के कार्ड बदलकर उनके खाते से करीब सवा लाख रुपए निकाल लिए गए। दाेनों घटनाओं में एक ही फार्मूले से लोगों के कार्ड लिए गए। पुलिस को शक है कि बाहरी गिरोह यहां घुस आया है। यह गिरोह आमतौर पर शहर में एक-दो दिन रहकर इसी तरह ठगी करता है। पुलिस को क्लू मिलने के पहले ही गिरोह शहर से फरार हो जाता है।

- पुलिस ने आनन-फानन में केस दर्ज जांच शुरू कर दी है। एटीएम से सीसी कैमरे के फुटेज भी निकाले जा रहे हैं। पुलिस के अनुसार बीते मंगलवार की शाम भनपुरी में एक प्रेस कर्मी के साथ ठगी करते हुए 38 हजार और उसके कुछ समय बाद ही टाटीबंध चौक पर एक मैकेनिक के कार्ड को बदलकर उसके खाते से 77 हजार निकाल लिए गए।

- पहली रिपोर्ट खमतराई थाने में दर्ज कराई गई। खमतराई पुलिस के अनुसार गुढ़ियारी के प्रेमनगर निवासी केशवराम जंघेल (50)14 नवंबर की शाम करीब 4 बजे भनपुरी स्थित एसबीआई के एटीएम में पैसा निकालने गए। वहां एटीएम के अंदर पहले से 2-3 युवक मौजूद थे। उन्होंने पैसा निकालने के लिए कार्ड स्वाइप किया।

- एक-दो बार प्रयास करने पर पैसे निकले। उन्हें परेशान देखकर एक युवक ने कहा कि वह मदद कर देता है, शायद पैसा निकल जाए। केशवराम ने अपना एटीएम उसे दे दिया। युवक ने कोशिश की और 500 रुपए निकालकर केशवराम को दिए।

- इसी दौरान बड़ी चालाकी से उसने उसका एटीएम कार्ड बदलकर उसी तरह का दूसरा कार्ड केशवराम को दे दिया। इसके बाद केशवराम वहां से चले गए। कुछ देर उन्होंने देखा कि उनके एटीएम से 4 बार में 38 हजार रुपए निकाल लिए गए हैं। मोबाइल पर मैसेज आने की वजह से उन्हें पता चला। आनन फानन में बैंक पहुंचकर उन्होंने इसकी शिकायत की और पुलिस थाने पहुंचे।


कार्ड लेकर दुर्ग में निकाला पैसा
- इस घटना के एक घंटे के भीतर आरोपियों ने टाटीबंध चौक स्थित एसबीआई के एटीएम में दूसरी ठगी की। आमानाका टीआई ने बताया कि मठपुरैना के छगनलाल साहू (36) एक ऑटोमोबाइल्स में मैकेनिक हैं।

- वे 14 नवंबर की शाम करीब 5 बजे टाटीबंध चौक स्थित एसबीआई एटीएम में पैसे निकालने गए। उन्होंने 500 रुपए एटीएम से निकाला। उस दौरान एटीएम के अंदर 2-3 युवक मौजूद थे।

- पैसे निकालने के बाद जब पर्ची नहीं निकली तब बगल में खड़े एक युवक ने कहा कि मैं मदद करता हूं। उसने एटीएम कार्ड लेते हुए पर्ची निकालने की बात कही। उन्होंने एटीएम दे दिया। इसी दौरान आरोपी ने शातिर तरीके से कार्ड बदल दिया।

- कार्ड बदलने के बाद छगनलाल वहां से चले गए। कुछ समय बाद उनके एटीएम में दो बार पहले 20 हजार और फिर 17 हजार रुपए निकालने का मैसेज आया। कुछ देर बाद ही उनके खाते से 40 हजार रुपए ऑनलाइन ट्रांसफर होने की सूचना मिली।

X
Replace card on the pretext of helping ATMs,
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..