--Advertisement--

सड़कों का ऐसा हाल, शाम को गुजरने से बचने लगा है शहर

सड़कें शाम 6 बजे से रात 9 बजे तक शराब दुकानों में उमड़ रही भीड़ की वजह से जाम होने लगी हैं।

Danik Bhaskar | Nov 17, 2017, 05:38 AM IST
रायपुर। राजधानी की आधा दर्जन बेहद व्यस्त सड़कें शाम 6 बजे से रात 9 बजे तक शराब दुकानों में उमड़ रही भीड़ की वजह से जाम होने लगी हैं। सभी शराब दुकानें ऐसी जगहों पर खुली हैं, जहां शाम को खासा ट्रैफिक प्रेशर रहता है। ठीक इसी समय इन दुकानों पर सैकड़ों लोग पहुंच रहे हैं और आधी से ज्यादा सड़कें इन लोगों और उनकी गाड़ियों से घिरी रहने लगी हैं।
- दुकानें सरकारी हैं, इसलिए ट्रैफिक पुलिस इनके आसपास कार्रवाई तो दूर, ट्रैफिक कंट्रोल करने के लिए भी नहीं फट रही है। जाम में फंसकर लोग खिन्न हो रहे हैं लेकिन विरोध करते ही शौकीन उन पर पिल पड़ते हैं।
- शहर की दो दर्जन अंग्रेजी शराब दुकानों में 1 नवंबर से बिलिंग सिस्टम लागू किया गया है। यानी दुकानों से एक भी शराब की बोतल बिना बिल के नहीं बेची जा रही है। इससे दुकानों में लगी भीड़ आसानी से नहीं छंटती है।
- दुकानों में सेल्समैन अप्रशिक्षित हैं। इस वजह से कंप्यूटराइज्ड बिल बनाने में और समय लगता है। इससे दुकानों में शाम से रात तक भारी भीड़ रहने लगी है। यही भीड़ हर मुख्य सड़क पर रोजाना शाम के जाम का कारण बन रही है।
मल्टीलेवल पार्किंग के सामने
- राइट्स की रिपोर्ट के अनुसार इस सड़क से शाम 6 से 8 बजे तक 20 हजार से ज्यादा लोग गुजरते हैं। शाम 7 बजे के बाद से मल्टीलेवल पार्किंग के सामने भीड़ बढ़ती है और आधी से ज्यादा सड़क शौकीनों और उनकी गाड़ियों से घिर जाती है।
- रोजाना शाम ऐसे हालात बन रहे हैं कि शराब दुकान से करीब 200 मीटर दूर जयस्तंभ चौक तक लाइन लगती है। भीड़ इतनी रहती है कि बाइक और पैदल वाले मुश्किल से निकल रहे हैं।
पंडरी में बस स्टैंड के पास
- ट्रैफिक पुलिस की रिपोर्ट के अनुसार इस रोड से शाम 6 से रात 9 बजे के बीच हर घंटे 15 हजार वाहन गुजरते हैं। बस स्टैंड से थोड़ा आगे जहां शराब दुकान है, वहां सड़क संकरी है और डिवाइडर भी है। इस सड़क से गुजरनेवाला व्यक्ति सबसे पहले बस स्टैंड के सामने जाम में फंसता है, फिर इस शराब दुकान के पास। कई बार इतना जबर्दस्त जाम लगता है कि केनाल रोड तिराहे तक गाड़ियों की लंबी लाइन लग जाती है।
कटोरातालाब चौक के पास
- ट्रैफिक पुलिस के सर्वे के मुताबिक इस चौराहे से सुबह 10 बजे से रात 9 बजे तक हर घंटे 10 हजार गाड़ियां गुजरती हैं। चौराहा और लगी सड़कें पहले से संकरी हैं। कमर्शियल एरिया होने के कारण पहले भी भीड़ रहती थी।
- कारोबारियों के विरोध के बावजूद चौक के पास शराब दुकान खुल गई। रोजाना शाम शराब दुकान में भीड़ से यह सड़क लगभग ब्लॉक हो जाती है। यहां इस मामले को लेकर विवाद भी बढ़ रहा है।
एमजी रोड शराब दुकान
- प्रदेश के बड़े इलेक्ट्रानिक्स बाजार एमजी रोड पर ट्रैफिक वाल्यूम 8 हजार वाहन प्रतिघंटा है। इस सड़क से लगी गलियों में भी घने बाजार हैं। लोग बड़ी संख्या में यहां पहुंचते हैं।
- छोटे मालवाहन सारा दिन लोडिंग-अनलोडिंग के लिए सड़क घेरे रहते हैं। यहां भी शराब दुकान ठीक वहां खुली है, जहां सड़क संकरी है। बाजार की भीड़ और फिर शाम होते ही शराब दुकान में भीड़ के कारण यह सड़क रात 9 बजे तक ब्लॉक रहने लगी है।