Hindi News »Chhatisgarh »Raipur »News» Aam Aadmi Party Declared 6 Seat In Chhattisgarh On Saturday

आप के 6 और प्रत्याशी घोषित, अब तक 68 नाम, पार्टी ने कहा एक ही परिवार के दो नहीं लड़ेंगे चुनाव

पार्टी ने ये भी साफ किया है कि एक ही परिवार के दो व्यक्ति चुनाव नहीं लड़ेंगे।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jul 14, 2018, 03:08 PM IST

आप के 6 और प्रत्याशी घोषित, अब तक 68 नाम, पार्टी ने कहा एक ही परिवार के दो नहीं लड़ेंगे चुनाव

रायपुर।आम आदमी पार्टी ने विधानसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों की तीसरी सूची जारी कर दी है। शनिवार को 6 विधानसभा सीटों के उम्मीदवारों की घोषणा की गई। आप के विधायक सोमनाथ भारती ने सूची जारी करते हुए बताया कि आप के अब तक 68 विधानसभा प्रत्याशी घोषित हों चुके हैं। पार्टी ने ये भी साफ किया है कि एक ही परिवार के दो व्यक्ति चुनाव नहीं लड़ेंगे।



जिन प्रत्याशियों के नाम घोषित किये गए हैं उनमें राजनांदगांव से सौरभ निर्वाणी, कवर्धा से भास्कर द्विवेदी, बिलासपुर से शैलेश आहूजा, बलौदाबाजार से मनहरण लाल वर्मा , डोंगरगांव से चन्द्रमणि और
मुंगेली से रामकुमार गंधर्व को शामिल किया गया है। विधानसभा चुनावों की तैयारी के लिए आम आदमी पार्टी के चार विधायक छत्तीसगढ़ के दौरे पर हैं। इनमें सोमनाथ भारती, नितिन त्यागी, प्रवीण देशमुख और विजेंद्र गर्ग के नाम शामिल हैं। चारों विधायकों ने रायपुर में प्रेस कांफ्रेंस कर दिल्ली में आप सरकार की उपलब्धियों की जानकारी दी और बताया कि छत्तीसगढ़ में विधानसभा प्रत्याशियों की तीसरी सूची जारी की गई है।

राज्य की राजनीति में परिवारवाद हावी है
- सोमनाथ भारती ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने ये ऐलान किया है कि एक ही परिवार के दो व्यक्ति चुनाव नहीं लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने जो काम करके दिखाया है उसका असर पूरे देश में है। उन्होंने कहा कि हम छत्तीसगढ़ को बदलने आए हैं। दिल्ली में बिजली सस्ती है और छत्तीसगढ़ में महंगी है, जबकि छत्तीसगढ़ सर प्लस वाला राज्य है। दिल्ली में स्वास्थ्य के क्षेत्र में मोहल्ला क्लिनिक के जरिए काफी काम हुआ है।

- इसके अलावा शिक्षा के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव हुए हैं। प्राइवेट स्कूल से सरकारी स्कूल के रिजल्ट 9 प्रतिशत ज्यादा है। आज 27 में से 18 जिले नक्सल प्रभावित हो चुके हैं। लोग सरकार की गलत नीतियों के शिकार हो रहे हैं। छत्तीसगढ़ की राजनीति में परिवारवाद हावी हैं। भाजपा, कांग्रेस और जनता कांग्रेस का परिवारवाद साफ दिखाई दे रहा है।

कंटेंट : कौशल स्वर्णबेर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×