विज्ञापन

मर चुकी महिला को बेहोश समझकर करते रहे गैंगरेप, लाश की हालत ऐसे थी कि PM रिपोर्ट में भी नहीं मिला कोई सुराग, हैवानियत की हद तो देखिए मरने के बाद भी मारा

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 06:05 PM IST

3 दिन बाद ऐसे लाश का चला पता, बॉडी के ऊपर सिर्फ एक साड़ी थी, नहीं था और कोई कपड़ा

Balod Chhattisgarh News Bindra Murder case Accused arrested after 5 months
  • comment

बालोद (छत्तीसगढ़)। लगभग 5 महीने पहले 16 सितंबर को बंद कमरे में 46 वर्षीय महिला की सड़ी गली लाश मिली थी। जिसमें बालोद पुलिस ने मर्ग कायम किया था। उस समय लाश इतनी सड़ चुकी थी कि पीएम रिपोर्ट में भी सुराग नहीं मिल पाया। जिससे अंधे कत्ल को पुलिस सुलझा नहीं पाई। 5 दिन पहले नए एसपी एमएल कोटवानी ने इसके लिए पूर्व क्राइम ब्रांच प्रभारी निरीक्षक कुमार गौरव साहू को मामला सुलझाने कहा। तत्काल पांच लोगों की एक विशेष टीम बनाई गई। 5 दिन के भीतर ही इस 5 माह पुराने मामले को सुलझा लिया गया। संदेह के आधार पर गांव के ही 19 वर्षीय ओम प्रकाश को हिरासत में लिया गया। जिसने कबूल किया कि दो अन्य साथी नीरज पटेल (18) व गुलशन ठाकुर (23) के साथ तीनों ने महिला के साथ संबंध बनाए और फिर उसे गला दबाकर मार दिया। हत्या और रेप ठीक 5 महीने पहले 13 सितंबर यानी लाश मिलने के 3 दिन पहले हुई थी।


पांच माह तक बाड़ी में पड़ी थी चाभी

रेप के बाद ओमप्रकाश ने दुबारा महिला का गला दबाया। फिर घर के बाहर गेट पर ताला लगा दिए। चाभी को वहीं एक बाड़ी में फेंक दिए। वह चाभी भी पांच महीने तक पड़ी थी। हत्या की वजह तीनों युवकों की हवस सामने आई।

हैवानियत की हद: गर्दन पर चोट आने से मर चुकी थी


मामले में जघन्य व शर्मनाक बात ये निकल कर आई कि महिला की मौत हो चुकी थी और आरोपी उसे बेहोश समझकर रेप करते रहे। फिर उसे जिन्दा समझकर जाने से पहले गला दबाकर चले गए। मामले का खुलासा करते बुधवार को एसपी एमएल कोटवानी ने कहा कि जब तीनों आरोपी महिला के घर दाखिल हुए तो उसे धक्का देकर गिरा दिए थे। जिससे खाट में महिला के गर्दन के पास चोट आई थी। मुख्य आरोपी ओमप्रकाश उसी समय महिला का गला दबाया हुआ था। जिससे वह उसी समय मर गई थी। तीनों आरोपियों ने बेहोश समझकर गलत काम किया।


आरोपियों तक पहुंचने की उम्मीद छोड़ दी थी


लगभग 2 महीने तक पुलिस छानबीन कर रही थी। लेकिन सुराग ही नहीं मिल पा रहा था। इससे पुलिस भी उम्मीद छोड़ चुकी थी। घर के बाहर से दरवाजा लगे होने से मामला संदिग्ध था। बाहर ताला लगा देख लोगों को यह लगता था कि वह कहीं गई होगी। तीन दिन बाद दुर्गंध से लाश का पता चला। उस समय लाश के ऊपर सिर्फ एक साड़ी ढकी हुई थी। नीचे कपड़ा नहीं था। इससे रेप की शंका हुई।


घर आता था एक व्यक्ति इसी का उठाया फायदा


एसपी ने बताया महिला अकेली रहती थी। उनके पति का निधन कई साल पहले हो चुका है। महिला के घर एक व्यक्ति का आना जाना था। उस रात को भी वह व्यक्ति आया था। घटना के बाद गांव में भी यह अफवाह उड़ गई कि जो व्यक्ति महिला के घर आता जाता था, उसी ने यह सब किया होगा। पुलिस भी पहले उसी दिशा में जांच कर रही थी। लेकिन वह व्यक्ति आरोपी नहीं निकला।


बुरी आदतों के कारण पकड़ में आया आरोपी


जांच टीम प्रभारी कुमार गौरव साहू व अन्य चार साथी गांव गए और फिल्मी स्टाइल में आरोपी तक पहुंचने की कोशिश की। लोगों से पूछा गया कि यहां लड़कियों से छेड़खानी करने वाले संलिप्त रहने वाला कोई विशेष युवक है क्या? इसमें ओमप्रकाश का पता चला। कुछ महीने पहले वह एक महिला के घर भी रात में बुरी नीयत से घुसा था। परिवार में भी एक महिला से छेड़खानी किया था। पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। उसी ने फिर कबूल किया कि मैं और अन्य दो साथी मिलकर महिला के साथ रेप कर गला दबा कर चले गए थे। गांजा पीने वाले चार लोग थे-महिला के प्रेमी को घर से निकलते देख तीनों ने उससे रेप का इरादा बनाया। पहले वहां चार लोग थे। जिसमें से युवक मोनू इनकी टोली से चला गया।

X
Balod Chhattisgarh News Bindra Murder case Accused arrested after 5 months
COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन