भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, बारिश की वजह से बदला गया समारोह स्थल / भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, बारिश की वजह से बदला गया समारोह स्थल

छत्तीसगढ़ के अलग राज्य बनने के बाद तीसरे मुख्यमंत्री बने भूपेश बघेल

Dec 17, 2018, 06:27 PM IST
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पद क छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पद क

रायपुर भूपेश बघेल ने सोमवार को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। बघेल के साथ टीएस सिंहदेव और ताम्रध्वज साहू ने भी मंत्री पद की शपथ ली। इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई अन्य दलों के नेता मंच पर मौजूद रहे। बघेल ने मंच पर मौजूद मनमोहन सिंह, मोती लाल वोरा और पीएल पुनिया के पैर छुए। इससे पहले सुबह से जारी बारिश के चलते समारोह स्थल बदलकर बलवीर सिंह जुनेजा इनडोर स्टेडियम दिया गया था। पहले शपथ ग्रहण साइंस कॉलेज मैदान में होना था।


- छत्तीसगढ़ के अलग राज्य बनने के बाद तीसरे मुख्यमंत्री बने भूपेश बघेल।
- शपथ लेने के बाद भूपेश बघेल सबसे पहले राहुल गांधी से मिले।
- राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने शपथ दिलाई।

भूपेश के चयन के बड़े कारण

- छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को मजबूती देने में योगदान। राहुल ने जो भी जिम्मा सौंपा, बघेल उस पर खरे उतरे।
- प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर पिछले 5 साल में कांग्रेस को मजबूती दी।
- बघेल ने बोल्ड स्टैंड लिया और पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी को पार्टी से बाहर किया। संगठन को एकजुट बनाए रखा।
- भाजपा सरकार के खिलाफ आक्रामक रहे। भाजपा नेताओं के साथ कभी मंच साझा नहीं किया।
- मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से हाथ नहीं मिलाया। विधानसभा में विपक्ष की मजबूत तस्वीर पेश की।

जोगी कैबिनेट में मंत्री रह चुके हैं बघेल

- 23 अगस्त 1961 को जन्मे बघेल 80 के दशक में यूथ कांग्रेस से राजनीति में आए।
- 2000 में जब छत्तीसगढ़ अलग राज्य बना तो वह पाटन सीट से विधायक थे। जोगी सरकार में उन्हें कैबिनेट में शामिल किया गया।
- 2003 में कांग्रेस के सत्ता से बाहर होने पर बघेल को विपक्ष का उपनेता बनाया गया।
- 2013 में झीरम घाटी हमले के बाद कांग्रेस को एक बार फिर से खड़ा करने में बघेल ने अहम भूमिका निभाई।
- 2014 में उन्हें प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया। हालांकि, वे सीडी कांड की वजह से भी सुर्खियों में रहे। सीबीआई इस मामले की जांच कर रही है।

1985 में यूथ कांग्रेस ज्वाइन की

- 23 अगस्त 1961 को दुर्ग जिले के पाटन तहसील में जन्मे बघेल का सियासी सफर 1985 से शुरू हुआ।
- उन्होंने यूथ कांग्रेस ज्वॉइन की। 1993 में पहली बार उन्होंने मध्यप्रदेश विधानसभा चुनावों में पाटन विधानसभा से विधायक चुना गया।
- वे इस बार भी इसी सीट से जीतकर विधानसभा पहुंचे हैं।

दिग्विजय सिंह सरकार में रहे कैबिनेट मंत्री

- मध्यप्रदेश में 1998 में दिग्विजय सिंह की सरकार बनी, तो भूपेश बघेल को मंत्री बनाया गया।
- 1999 में उन्हें परिवहन की जिम्मेदारी दी गई। इसके बाद 2000 में एमपी राज्य सड़क परिवहन निगम अध्यक्ष नियुक्त किया गया।

ये रहे मौजूद

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, शरद यादव, नवजोत सिंह सिद्धू, सचिन पायलट, राज बब्बर, जतिन सिंह, नवीन जिंदल, राजीव शुक्ला, आनंद शर्मा, गुरुदास कामत, मल्लिकार्जुन खड़गे, मोहसीना किदवई, प्रमोद तिवारी, फारूख अब्दुल्ला, नारायण सामी, अशोक गहलोत, सचिन पायलट और बाबूलाल मरांडी समारोह में पहुंचे। इनके अलावा छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह भी पहुंचे।

X
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पद कछत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पद क
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना