• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Raipur
  • News
  • Raipur News blind children can understand from pragya yoga the difference between numbers and colors 50 trainers and 150 voluntary training
--Advertisement--

ब्लाइंड बच्चे प्रज्ञा योग से समझ सकेंगे नंबर व रंगोंं में फर्क, 50 ट्रेनर और 150 वॉलंटियर दे रहे ट्रेनिंग

Raipur News - कम्युनिटी रिपोर्टर | रायपुर दृष्टिबाधित बच्चे अलग-अलग नंबरों, रंगों और आकृतियों में अंतर कर सकें, इसके लिए 2...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 03:00 AM IST
Raipur News - blind children can understand from pragya yoga the difference between numbers and colors 50 trainers and 150 voluntary training
कम्युनिटी रिपोर्टर | रायपुर

दृष्टिबाधित बच्चे अलग-अलग नंबरों, रंगों और आकृतियों में अंतर कर सकें, इसके लिए 2 स्कूल के 140 ब्लाइंड बच्चों को शुक्रवार और शनिवार को प्रज्ञा योग की ट्रेनिंग दी गई। आर्ट आॅफ लिविंग संस्था के इस कार्यक्रम में 50 प्रशिक्षक और 150 वॉलंटियर ने बच्चों को सिखाया कि वे किस तरह योग से खुद की योग्यताओं काे उभार सकते हैं। संस्था ने तय किया है कि आगे भी इन बच्चों को नियमित प्रशिक्षण दिया जाएगा ताकि वे पूरी तरह से सामान्य जीवन जी सकें।

संस्था का दावा है कि देश में पहली बार इतने ज्यादा ब्लाइंड बच्चों को एक साथ प्रज्ञा योग की ट्रेनिंग दी जा रही है। अंतरराष्ट्रीय प्रशिक्षिका मिरल नानावती, अंजू रामनानी और उन्नति नानावती के मार्गदर्शन में बच्चों को ट्रेनिंग दी जा रही है। रायपुरा रोड स्थित मंगल भवन और हीरापुर स्थित प्रेरणा ब्लाइंड स्कूल में बच्चों को ट्रेनिंग दी गई। देश में अपनी तरह का यह दूसरा प्रयोग है। दावा है कि इससे बच्चों की 6वीं इंद्री जागृत हो सकती है। इसके जरिए बच्चे रंग, आकृति, नंबर आदि का बिना ब्रेल और दूसरे माध्यम के सहारे अंतर कर सकते हैं। योग से आत्मविश्वास आता है। रोज योग का अभ्यास कर बच्चे अपने जीवन के सही और गलत फैसले भी ले सकेंगेे। संस्था का कहना है कि समय-समय पर अभ्यास कराया जाएगा। कार्यक्रम में केएल साहू , नीरज शर्मा, महेंद्र, विवेक मिश्रा, पूनम मिश्रा, अंजलि गौर, प्रेरणा वंडलकर, प्रलय वंडलकर, मुकेश निहाल, सतीश पांडा, रचना चतुर्वेदी, परेश पटेल, विकास पलसानिया, अनूप वासवानी, योगेश चौहान, अश्वनी जग्गी, अलका वासवानी, हरीश बधेल, उज्ज्वला बघेल, अमिता निहाल, आशीष नाइक आदि मौजूद रहे।

रविवार को आयोजित ट्रेनिंग कैंप में प्रशिक्षकों के साथ बच्चे।

योग अभ्यास से सही निर्णय ले सकेंगे बच्चे

योग प्रशिक्षिका नानवती ने बताया कि योग के जरिए उनके अंदर अवेरनेस और आत्मविश्वास का निर्माण होगा। शिविर में बच्चो में उनकी वास्तविक क्षमता को बहार लाने, अंतर्ज्ञान में सुधार, संवेदी क्षमताओं को बढ़ाने, जागरूकता और दूरदर्शिता लाने, अज्ञात के डर को हटाने, रचनात्मकता और बुद्धि को बढ़ाने के मकसद से ट्रेनिंग दी गई। योग का निरंतर अभ्यास से बच्चे अपनी जिंदगी मेें सही फैसले ले सकेंगे। उन्हें किसी तरह के सहारे की जरूरत नहीं पड़ेगी। शिविर काे सफल बनाने में कई लोगों ने मदद की।

X
Raipur News - blind children can understand from pragya yoga the difference between numbers and colors 50 trainers and 150 voluntary training
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..