--Advertisement--

Dainik Bhaskar

Nov 29, 2017, 11:42 AM IST
प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।

नारायणपुर। नक्सल विरोधी अभियान पर निकली डीआरजी और एसटीएफ की टीम ने तोयामेटा एवं कावानार के जंगल में हुई मुठभेड़ के बाद 7 नक्सलियों को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। इनके पास से 2 भरमार बंदूक, 1 बंडल वायर स्विच, 3 नक्सली पिट्ठू, 1 बैनर , 2 नक्सली वर्दी, 2 नग जरकिन बरामद किया गया। जानिए पूरी घटना…

- मिली जानकारी के मुताबिक पूर्व बस्तर डिविजन में नक्सलियों की उपस्थिति की सूचना पर डीआरजी और एसटीएफ की संयुक्त टीम को 25 नवंबर को धनोरा थाना से रवाना किया गया था।

- 28 नवंबर को साढ़े 12 बजे तोयामेटा एवं कावानार के बीच जंगल में पुलिस पार्टी को आता देख नक्सलियों ने गोलीबारी शुरू कर दी।

- पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की। गोलीबारी रुकने के बाद पुलिस ने घटनास्थल की घेराबंदी कर सर्च किया तो झाड़ियों के अंदर छिपे 7 नक्सलियों को धरदबोचा।

- पकड़े गए आरोपियों के कब्जे से 2 भरमार बंदूक, 1 बंडल वायर स्विच, 3 नक्सली पिट्ठू, 1 बैनर, 2 नक्सली वर्दी, 2 नग जरकिन बरामद किया गया।

- पूछताछ करने पर उन्होंने अपना नाम कोलोकाल जनताना सरकार सदस्य बेंजा कोर्राम, कुल्ले मंडावी, भट्‌टबेड़ा जनताना सरकार सदस्य मड्‌डा पोड़ियाम, आसी उसेंडी, काकावाड़ा जनताना सरकार सदस्य सुक्को कश्यप, पंडरू कुहरामी, गुड्‌डी मंडावी बताया।

- सभी आरोपी गांव एवं आसपास क्षेत्र में नक्सलियों के आने पर उनकी मदद करना, मीटिंग के लिए गांव वालों को इकट्ठा करना, नक्सली संगठन का प्रचार-प्रसार करना, संतरी ड्यूटी करना, नक्सलियों को सामान पहुंचाना, गांव में पुलिस आने की सूचना देने का काम करते थे।

- सभी को गिरफ्तार कर बुधवार को न्यायालय में पेश किया गया।

X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..