--Advertisement--

यहां बरप रहा है आदमखोर कुत्तों का कहर, एक बच्ची के मौत के बाद फिर ८ घायल

यहां बरप रहा है आदमखोर कुत्तों का कहर, एक बच्ची के मौत के बाद फिर ८ घायल

Danik Bhaskar | Jan 24, 2018, 02:52 PM IST


रायपुर। राजधानी में आवारा कुत्तों का कहर थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। अभी 12 माह की मासूम की दर्दनाक मौत के बाद लोगों का गुस्सा शांत ही नहीं हुआ था कि कुत्तों ने फिर 8 बच्चों को अपना शिकार बना लिया। ध्यान देने वाली बात है कि कुत्तों ने इससे पहले भी दो मासूमों को काट उनके अंग नोच कर खा लिए थे जिससे उनकी मौत हो गई थी। नहीं जाग रहा है है निगम...


- रायपुर में 20 जनवरी की कुत्तों के काटने खाने से एक 12 माह की मासूम की दर्दनाक मौत के बाद फिर डॉग बाइट का मामला सामने आया है।
- मंगलवार और बुधवार को भी शहर के अलग-अलग इलाकों में आवारा कुत्तों ने कुल 8 बच्चों को अपना निशाना बना लिया।
- इसमें मंगलवार को गुढ़ियारी इलाके में 5 और बुधवार को महोबा बाजार इलाके में ३ बच्चों को निशाना बनाया है।
- इन पांच में से दो की हालत बेहद गंभीर बनी हुई है। बुरी तरह से घायल बच्चों का इलाज अंबेडकर अस्पताल में चल रहा है।


पिछले 5 सालों में 3 बच्चों की हो चुकी है मौत


- वर्ष 2014 में कवर्धा की रहने वाली 3 साल की राजनंदिनी को आवारा कुत्तों ने काट खाया था।
- जख्म इतने गहरे थे कि उसकी दर्दनाक मौत हो गई।
- वर्ष 2016 में खमतराई इलाके की रहने वाली 5 साल की दिव्या वर्मा की मौत का गत आज तक उसके पैरेंट्स नहीं भूल पाए हैं।
- दिव्या को कुत्तों ने नोच दिया था और कई स्थानों से मांस खा गए थे।


नहीं चेत रहा निगम


- पिछले तीन सालों में निगम की ओर जीन बासर टेंडर बुलाया गया। ये टेंडर आवारा कुत्तों की नसबंदी के लिए था ताकि इनकी संख्या पर काबू पाया जा सके।
- तीन बार के टेंडर में केवल 8 हजार कुत्तों की नसबंदी कर पाए हैं। तीन साल पहले सर्वे में पता चला कि राजधानी में 60 हजार से ज्यादा आवारा कुत्तों की फौज है।
- फिर एक मासूम की मौत के बाद कुत्तों का कहर लगातार बरप रहा है और निगम अपना रटा रटाया पुराना राग अलाप रहा है।
- जल्द ही टेंडर करेंगे और इनकी संख्या पर काबू पाएंगे।


100 किमी का सफर कर वापस आ गए कुत्ते


- निगम ने इससे पहले आवारा कुत्तों को गाड़ी भरकर गरियाबंद और धमतरी के इलाकों में छोड़ दिया।
- ये कुत्ते कुछ दिन बाद फिर वापस रायपुर आ गए। कुत्तों के धमतरी छोड़ने पर वहां के प्रशासन ने आपत्ति भी जताई थी।

आधा दर्जन कुत्तों ने बच्ची को नोंच-नोंच कर मार डाला, हुई ऐसी दर्दनाक मौत