--Advertisement--

गांव की डबरी में गिर गया था हाथी का बच्चा, ग्रामीणों के मदद से निकाला गया

गांव की डबरी में गिर गया था हाथी का बच्चा, ग्रामीणों के मदद से निकाला गया

Danik Bhaskar | Feb 27, 2018, 12:35 PM IST
गड्‌ढे में गिर गया हाथी का बच् गड्‌ढे में गिर गया हाथी का बच्


अंबिकापुर। एक जंगली हाथी करीब दस फिट गड्ढे में उस वक्त गिर गया जब वह अपने दल के साथ जंगल से आबादी की ओर जा रहा था। रात भर गड्ढे में पड़े रहने के बाद सुबह आठ बजे करीब ग्रामीणों और वनकर्मचारियों ने मिलकर उसे बाहर निकाला। घटना सूरजपुर वनपरिक्षेत्र अंतर्गत मोहनपुर के हरिपुर गांव का है। ध्यान देने वाली बात है कि पूरे संभाग में जंगली हाथियों की सबसे पसदिंदा जगह बन चुके मोहनपुर के जंगल में पचास से अधिक हाथियों का दल पिछले कई दिनों से डेरा जमाए हुए हैं।

- रोज की तरह सोमवार की रात भी सभी हाथी जंगल से गन्ना खाने निकले। वे मोहनपुर, सुंदरपुर बस्ती की ओर निकल गए थे और गन्ने की फसल खा रहे थे।

- रात दस बजे करीब वे हरिपुर की ओर जाने लगे कि रास्ते में एक हाथी का बच्चा करीब दस फिट गहरे गड्ढे में गिर गया जिसमें पानी भी भरा हुआ था।

- हाथी के गड्ढे में गिरने के बाद भी बाकी हाथी आगे बढ़ गए और मोहनपुर, सुंदरपुर, पाठकपुर सहित अन्य स्थानों में गन्ना सहित अन्य फसलों को जमकर नुकसान पहुंचाया।

- पाठकपुर में तो तीन घरों को भी तोड़ डाला। उधर गड्ढे में गिरा हाथी रात भर चिंघाड़ता रहा, लेकिन कोई मदद नहीं मिल सकी।

- पूरी रात वह गड्ढे में पड़ा रहा। सुबह होते ग्रामीणों को हाथी के गड्ढे में गिरे होने की खबर मिली जिसके बाद कई ग्रामीण गड्ढे के पास आ गए।

- सूचना के बाद वनकर्मचारी भी वहां पहुंच गए। ग्रामीणों ने कुदाल, फावड़ा के सहारे गड्ढे के एक हिस्से को खोद रास्तानुमा बनाया ताकि हाथी चल कर बाहर निकल जाए।

- बताया जा रहा है कि रात भर गड्ढे में रहने और निकलने के प्रयास में हाथी पस्त हो गया था जिस कारण वहां उपस्थित लोगों को उसे बाहर निकालने करीब दो घंटे तक मशक्कत करनी पड़ी।

- ग्रामीणों द्वारा गड्ढे के एक हिस्से को रास्तानुमा बनाये जाने के बाद करीब आठ बजे हाथी गड्ढे से बाहर निकला।

- हाथी के बाहर निकलते ही सुरक्षा की दृष्टि से ग्रामीण और वनकर्मचारी दूर हट गए और हाथी धीरे धीरे जंगल की ओर अपने साथियों के पास चला गया।

फोटो/वीडियो : द्वारिका गुप्ता