--Advertisement--

क्चह्म्द्गड्डद्मद्बठ्ठद्द ठ्ठद्ग2ह्य - भारत नेट परियोजना के लिए छत्तीसगढ़ को केन्द्र से मिली १६२४ करोड़ रुपये की मंजूरी

क्चह्म्द्गड्डद्मद्बठ्ठद्द ठ्ठद्ग2ह्य - भारत नेट परियोजना के लिए छत्तीसगढ़ को केन्द्र से मिली १६२४ करोड़ रुपये की मंजूरी

Danik Bhaskar | Dec 23, 2017, 01:07 PM IST
प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज यहां बताया कि केंद्र ने भारत नेट परियोजना के लिए छत्तीसगढ़ सरकार को एक हजार 624 करोड़ रुपए की स्वीकृति प्रदान कर दी है । इस राशि से राज्य में मोबाइल फोन और इंटरनेट कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए आठ हजार किलोमीटर फाइबर नेटवर्क का विस्तार किया जाएगा। जानिए योजना के बारे में...


- डॉ . रमन सिंह ने बताया कि भारत नेट परियोजना के तहत राज्य के सुदूर दक्षिण में आदिवासी बहुल बीजापुर जिले से उत्तरी छत्तीसगढ़ के आदिवासी बहुल जिले बलरामपुर - रामानुजगंज तक और पूर्व में रायगढ़ जिले से पश्चिम में राजनांदगांव जिले तक संचार क्रांति का विस्तार होगा ।
- उन्होंने बताया कि नक्सल हिंसा पीड़ित बस्तर संभाग के लिए पिछले राज्य सरकार द्वारा बस्तर नेट परियोजना पिछले साल शुरू की गयी है । इसके अंतर्गत बस्तर अंचल में छत्तीसगढ़ सरकार स्वयं के बजट से 800 किलोमीटर ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क का विस्तार कर रही है।

- मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि इस योजना के तहत सम्पूर्ण छत्तीसगढ़ में 45 लाख से 50 लाख लोगों को मुफ्त स्मार्ट मोबाइल फोन बांटने का लक्ष्य है । योजना के लिए प्रदेश भर में डेढ़ हजार मोबाइल टावर भी खड़े किए जाएंगे ।

- डॉ. रमन सिंह ने कहा कि केन्द्र सरकार की भारत नेट परियोजना , राज्य सरकार की बस्तर नेट परियोजना और संचार क्रांति योजना को मिलाकर तीनों परियोजनाओं के जरिए छत्तीसगढ़ में इन्फॉर्मेशन सुपर हाइवे विकसित किया जाएगा।

- इससे छत्तीसगढ़ संचार क्रांति के नए युग में प्रवेश करेगा। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार की संचार क्रांति परियोजना में लोगों को मुफ्त दिए जाने वाले स्मार्ट फोन से प्रधानमंत्री जन-धन योजना के बैंक खातों और आधार कार्डों को मोबाइल नेटवर्क से जोड़ा जाएगा।

- स्मार्टफोन धारकों को केन्द्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं का फायदा ऑनलाइन आसानी से मिल सकेगा। इससे कैशलेस लेन -देन को भी प्रोत्साहन मिलेगा।