--Advertisement--

मामूली विवाद पर रिश्तेदारों का युवक पर चाकू कुल्हाड़ी से हमला बांयी आंख में धंसा चाकू डॉक्टरों ने निकाला - पिथौरा के २५ वर्षीय अशोक को गंभीर हालत में किया था निजी अस्पताल में भर्ती - ऑपरेशन कर चाकू निकाला लेकिन आंख की रोशनी जाने की आशंका - 1

मामूली विवाद पर रिश्तेदारों का युवक पर चाकू कुल्हाड़ी से हमला बांयी आंख में धंसा चाकू डॉक्टरों ने निकाला - पिथौरा के २५ वर्षीय अशोक को गंभीर हालत में किया था निजी अस्पताल में भर्ती - ऑपरेशन कर चाकू निकाला लेकिन आंख की रोशनी जाने की आशंका - 1

Dainik Bhaskar

Mar 06, 2018, 11:23 AM IST
सफल ऑपरेशन के बाद अस्पताल में सफल ऑपरेशन के बाद अस्पताल में

रायपुर। होली के दिन मामूली विवाद पर रिश्तेदारों ने एक युवक पर चाकू व कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। इस हमले में युवक की बांयी आंख में चाकू धंस गया। आंख में यह तीन इंच अंदर चला गया और बाहर से टूट भी गया। गंभीर हालत में उसे राजधानी के एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया। डॉक्टरों ने सोमवार की शाम को ऑपरेशन कर आंख में धंसा चाकू निकाला आैर युवक की जान बचाई। डॉक्टरों के अनुसार यह काफी रेयर केस है। गनीमत है कि चाकू ने ब्रेन को ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचाया, वरना युवक की जान जा सकती थी।


- पिथौरा निवासी 25 वर्षीय अशोक निर्मलकर का होली के दिन अपने ही रिश्तेदारों के साथ विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा कि रिश्तेदारों ने अशोक पर चाकू व कुल्हाड़ी से हमला कर दिया।

- हमले के दौरान चाकू अशोक की बांयी आंख के ऊपरी हिस्सा में घुस गया। खोपड़ी से टकराकर चाकू टूट भी गया।

- आंख में चाकू धंसने से युवक वहीं पर बेहोश होकर गिर पड़ा। लोगों ने किसी तरह उसे देवेंद्रनगर स्थित श्रीनारायणा अस्पताल पहुंचाया।

- अस्पताल के डायरेक्टर डॉ. सुनील खेमका ने बताया कि चाकू आंख के अंदर ब्रेन से लगे हिस्सा में तीन इंच तक घुसा हुआ था।

- एक्सरे जांच में इसकी पुष्टि भी हो गई। चाकू से ब्रेन के किसी हिस्से को नुकसान तो नहीं पहुंचा है, यह जानने के लिए एमआरआई टेस्ट भी कराया गया।

- इसके बाद न्यूरो सर्जन, नेत्र रोग विशेषज्ञ व मैक्सलो फेशियल सर्जन की संयुक्त टीम ने युवक का ऑपरेशन किया। ऑपरेशन कर आंख में धंसे चाकू को सावधानीपूर्वक निकाला गया।

- ब्रेन के टिशु को बचाते हुए ऑपरेशन किया गया। आंख का भी ऑपरेशन किया गया। डॉ. खेमका ने बताया कि प्रारंभिक जांच में आंख की रोशनी जाने की आशंका है, क्योंकि चाकू के तीन इंच धंसने के कारण कार्निया व रेटीना को नुकसान पहुंचा है।

- इससे आई बाल खराब हो गई है। फिर भी रेटीना व कार्निया को बचाने का प्रयास किया जाएगा। ऑपरेशन करने वाली टीम में न्यूरो सर्जन डॉ. रुपेश वर्मा, मैक्सलो फेशियल सर्जन डॉ. गौरव खेमका व नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. अंकिता शामिल थीं।

- डॉ. खेमका ने बताया कि उन्होंने ऐसा केस लंबे समय बाद देखा है। आंख में चाकू धंसना बहुत ही रेयर केस है।


लगा था कि जान निकल जाएगी


- अशोक ने बताया कि वह होली के दिन अपने घर के पास बैठा था, तभी उनके रिश्तेदारों ने हमला कर दिया।

- आंख में चाकू धंसने के बाद लगा था कि जान चली जाएगी, लेकिन डॉक्टरों ने ऑपरेशन कर इसे निकाल दिया है।

- उन्होंने बताया कि उन्हें रिश्तेदारों के हमले की आशंका कतई नहीं थी। वह निहत्था था और उनके रिश्तेदार चाकू व कुल्हाड़ी से हमला कर दिया।

- वह संभल भी नहीं पाया। लोगों ने बीच-बचाव किया तो वे भाग निकले।

फोटो : पीलू राम साहू

X
सफल ऑपरेशन के बाद अस्पताल में सफल ऑपरेशन के बाद अस्पताल में
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..