Hindi News »Chhattisgarh News »Raipur News »News» Doctors On Strike In Chhattisgarh

प्रदेश के ढाई हजार डॉक्टर हड़ताल पर, चरमरा सकती है स्वास्थ्य सेवाएं

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jan 02, 2018, 11:53 AM IST

देश के करीब 2500 डॉक्टर्स के हड़ताल पर चले जाने से राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं पर इसका बुरा असर पड़ सकता है।
प्रदेश के ढाई हजार डॉक्टर हड़ताल पर, चरमरा सकती है स्वास्थ्य सेवाएं

रायपुर।प्रदेश के करीब 2500 डॉक्टर्स के हड़ताल पर चले जाने से राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं पर इसका बुरा असर पड़ सकता है। मंगलवार को सरकार नेशनल मेडिकल कमीशन बनाने के लिए बिल लेकर आ रही है। ऐसे में देश भर में डॉक्टर इसका विरोध कर रहे हैं। हालांकि इस विरोध के दौरान इमरजेंसी सेवाएं चालू रहेंगी। जानिए पूरा मामला...


- डॉक्टर्स का मानना है कि यदि यह बिल पास हुआ तो इलाज महंगा होगा और भ्रष्टाचार को बल मिलेगा।
- ध्यान देने वाली बात है कि इस बिल के लागू होने से मेडिकल कॉलेज पर शिकंजा मजबूत होगा।
- आज डॉक्टर्स के हड़ताल पर चले जाने से ओपीडी सेवाएं प्रभावित होंगी।
- ध्यान देने वाली बात है कि राज्य में सर्दी बढ़ने से मरीजों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है।
- इधर अस्पतालों के ओपीडी में आए दिन मरीजों की भारी भीड़ हो रही है।
- हड़ताल के चलते मरीजों को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है।

इसलिए है विरोध...

- अब तक प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में 15 फीसदी सीटों की फीस मैनेजमेंट तय करता था।

- वहीं नए बिल के मुताबिक मैनेजमेंट को केवल 60 फीसदी सीटों की फीस तय करने का अधिकार होगा।

- इस बिल में अल्टरनेटिव मेडिसिन (होम्योपैथी, आयुर्वेद, यूनानी) की प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टरों के लिए एक ब्रिज कोर्स का प्रप्रोजल है। इसे करने के बाद वे मॉडर्न मेडिसिन की प्रैक्टिस भी कर सकेंगे।

- आईएमए के पूर्व प्रेसिडेंट केके अग्रवाल के मुताबिक, "इस बिल में ऐसे प्रोविजन्स हैं, जिससे आयुष डॉक्टर्स को भी मॉडर्न मेडिसिन प्रैक्टिस करने की परमिशन मिल जाएगी। जबकि, इसके लिए कम-से-कम एमबीबीएस क्वालिफिकेशन होनी चाहिए। इससे नीम-हकीमी करने वाले भी डॉक्टर बन जाएंगे।"

- डॉक्टर अग्रवाल का दावा है कि इस बिल में प्राइवेट कॉलेजों को मनमाने तरीके से फीस वसूलने की छूट दी गई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Raipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: pradesh ke dhaaee hazaar doktr hड़taal par, chrmraa skti hai svaasthy sevaaen
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×