--Advertisement--

कभी पत्नी का शव कंधे पर लेकर गया था ये शख्स, आज कर रहा है ये सब

कभी पत्नी का शव कंधे पर लेकर गया था ये शख्स, आज कर रहा है ये सब

Danik Bhaskar | Dec 07, 2017, 11:39 AM IST
इनकी फोटो को जब बहरीन के पीएम न इनकी फोटो को जब बहरीन के पीएम न


गरियाबंद। गत वर्ष अगस्त माह में एक फोटो सोशल मीडिया में वायरल हुई और ये घटना खबरों में काफी चर्चा में रही कि एक शख्स की पत्नी की मौत होने के बाद वो कंधे पर शव लेकर 10 किमी तक गया। वजह थी उसकी गरीबी। पत्नी टीबी से पीड़ित थी और उसकी मौत हो गई। उसके पास एम्बुलेंस तक के पैसे नहीं थे। आज उस शख्स की जिंदगी बदल गई है। आज इनकी बेटी को ओडिशा सरकार भुवनेश्वर में पढ़ा रही है। इनकी तीसरी शादी भी हो चुकी है और वो अब नई बाइक से घूम रहे हैं और 36 लाख रुपए बैंक में जमा हैं। जानिए पूरी कहानी...


- दरअसल मंगलवार को दाना मांझी ने कालाहांडी जिले के भवानीपाटा स्थित एक बाइक शो-रूम से नई बाइक खरीदी है। इन्हें बाइक चलाने नहीं आता इसलिए अपने भतीजे को साथ लेकर आए थे। इनकी बदली हालत देख लोगों को वो वक्त भी याद आ गया जब ये देश-विदेश में चर्चा में आए थे और इन्हें ओडिशा सरकार की ओर से इंदिरा आवास योजना के तहत घर मिला। बहरीन के पीएम प्रिंस खलीफा बिन सलमान अल खलीफा ने 9 लाख रुपए की सहायता राशि दी थी।इन्हें और कई लोगों ने आर्थिक मदद दी जिससे इनके अकाउंट में 36 लाख रुपए से ज्यादा राशि हो गई है।

इस वजह से आए थे चर्चा में


- ये घटना 24 अगस्त 2016 की है। ओडिशा के पिछड़े जिले कालाहांडी में दाना मांझी को अपनी दूसरी पत्नी के शव को कंधे पर लेकर करीब 10 किलोमीटर तक चलना पड़ा था। उसे अस्पताल से शव को घर तक ले जाने के लिए कोई वाहन नहीं मिला, क्योंकि एम्बुलेंस रिजर्व कर उसे देने के लिए पैसे तक नहीं थे। उसके साथ उसकी 12 वर्षीय बेटी भी थी जो पिता के साथ चल रही थी। ये फोटो सोशल मीडिया समेत कई प्लेटफॉर्म पर वायरल हुई और गरीबी का ये दर्द भी लोगों ने देखा।

फोटो : संदीप राजवाड़े