--Advertisement--

रात में सो रही थी महिला, गर्दन पकड़कर ले गया पैंथर, किसी को भनक तक नहीं लगी

रात में सो रही थी महिला, गर्दन पकड़कर ले गया पैंथर, किसी को भनक तक नहीं लगी

Danik Bhaskar | Dec 16, 2017, 01:44 PM IST
छत्तीसगढ़ के कांकेर का मामला- 13 छत्तीसगढ़ के कांकेर का मामला- 13


काकेर। एक बुजुर्ग महिला को अपना निवाला बना चुका तेंदुआ अभी भी वन विभाग की पकड़ से बाहर है। तेंदुए को पकड़ने के लिए वन विभाग ने कैमरे लगाए हैं। शनिवार को भी कैमरों को खंगाला गया, लेकिन तेंदुए का पता नहीं चला। इस इलाके में तेंदुए के नरभक्षी होने से लोग काफी दहशत में हैं। जानिए पूरा मामला...


- घटना कांकेर के खमडेढ़गी की है। 13 दिसंबर की रात यहां 65 वर्षीय शन्नो हिचामी अपने घर के में सोई हुई थी। सुबह महिला की बहू उसे जगाने और दातून देने गई। देखा तो वो बिस्तर में नहीं थी। पहले उसने ये समझा कि महिला शौच के लिए गई होगी। काफी देर बाद नहीं लौटी तो खोजबीन शुरू की गई। घर से कुछ दूर महिला के कपड़े मिले। आंशका होने पर आसपास खेत जंगल में तलाश शुरू की। घर से आधा किमी दूर खेत से लगे एक चट्टान पर महिला के अंग मिले। यहां पैर, दोनों हाथ, सिर के बाल तथा रीढ़ की हड्डी पड़ी मिली। सिर व अन्य हिस्सों को तेंदुआ खा चुका था।


नरभक्षी है तेंदुआ


-कांकेर सीसीएफ एचएल रात्रे ने बताया खमढोड़गी घटना से साफ है कि वहां तेंदुआ नरभक्षी हो गया है। तेंदुए की प्रवृत्ति होती है कि जहां शिकार करने के बाद छोड़ कर जाता है वहां दोबारा जरूर आता है। इसलिए नरभक्षी तेंदुआ की पहचान करने खमढोड़गी में उक्त स्थान पर कैमरा लगाया गया है।
- नरभक्षी तेंदुए की पहचान होने के बाद उसे पकड़ने योजना बनाई जाएगी। इलाके में और भी तेंदुए हैं, इसलिए इस बात का विशेष ध्यान रखा जा रहा है कि पहले नरभक्षी तेंदुए की पहचान की जाए उसके बाद ही उसे पकड़ा जाए।
- जिले में यह पहली घटना है जिसमें तेंदुए ने नरभक्षी होकर महिला को अपना निवाला बना लिया। इसके पूर्व तक तेंदुआ मवेशी मुर्गों को ही अपना भोजन बनाते रहे हैं।
- 2014 में शहर में घुसे तेंदुए ने अपने बचाव दहशत में आमापारा में कुछ लोगों पर हमला किया था।