--Advertisement--

पैर नहीं था तो बना लिया लकड़ी का ये जुगाड़ लेग, दौड़ते और साइकिल भी चलाते हैं

पैर नहीं था तो बना लिया लकड़ी का ये जुगाड़ लेग, दौड़ते और साइकिल भी चलाते हैं

Dainik Bhaskar

Jan 23, 2018, 01:56 PM IST
यूं चलाते हैं साइकिल। यूं चलाते हैं साइकिल।


कांकेर। ये हैं कांकेर जिले के सुदूर ग्राम नाहगीदा का मानसिंग मंडावी। ये जब ढाई साल के थे तब कुएं से पानी निकालने वाला लोहे का टेडा पैर पर गिर गया था। चोट इतनी गंभीर आई कि पखांजूर अस्पताल में पैर काटना पड़ा। गरीबी, शारीरिक अक्षमता के चलते पढ़ाई नहीं कर पाए। गरीबी व सुदूर गांव में रहने के कारण परिजन कृत्रिम पैर लगवा नहीं पाए, लेकिन एक पैर गवां चुके मानसिंग ने हिम्मत नहीं हारी। जानिए कैसे बनाया लकड़ी का पैर...


- 12 साल का होते-होते अपने हाथ से बांस व लकड़ियों से अपने लिए कृत्रिम पैर तैयार कर लिया। शुरू में इस पैर को लगाने में थोड़ी परेशानी होती थी।
- फिर इसमें थोड़ा परिवर्तन कर सुविधाजनक बनाया। मानसिंग की उम्र अब 35 साल हो चुकी है। लकड़ी का पैर कुछ साल चलने के बाद टूट जाता है, लेकिन जो नहीं टूटती है वो है मानसिंग की हिम्मत।
- वह फिर से अपने लिए लकड़ी का कृत्रिम पैर बना लेते हैं। मानसिंग बताते हैं कि बीते 23 सालों में अब तक वह अपने लिए 10 से ज्यादा बार कृत्रिम पैर बना चुके हैं।
खेत भी जोतते हैं
- इसी कृत्रिम पैर के सहारे मानसिंग न केवल पैदल चल लेते हैं बल्कि खेत जोतने के अलावा लंबी दूरी तक साइकिल भी चला लेते हैं।
- साइकिल चलाकर एक गांव से दूसरे गांव जाना, बाजार जाना, दौड़ लगाना सारे काम आसानी से कर लेता है।


पत्नी भी है दिव्यांग....


- शादी की उम्र हुई तो गंगाय बाई से मुलाकात हुई जो एक हाथ से दिव्यांग है। उसे मानसिंग ने जीवन साथी बनाया और उनकी एक 9 साल की बच्ची है संतोषी।
- खेती है नहीं जिसके चलते मानसिंग दूसरों के खेतों में मेहनत मजदूरी कर परिवार का पेट पालता है।
- मानसिंग को ग्राम पंचायत से दिव्यांग पेंशन मिलती है पर पत्नी के भी दिव्यांग होने के बावजूद उसे पेंशन नहीं मिलती।
- सरपंच बसंती नेताम ने कहा मानसिंग का हौसला और हिम्मत दो पैर वाले सामान्य लोगों से भी कहीं बढ़कर है।
- उसकी पत्नी का पेंशन प्रकरण कार्यालय में कई बार जमा किया पर सर्वे सूची में नाम नहीं होने का हवाला देकर फार्म निरस्त कर दिया जाता है।

X
यूं चलाते हैं साइकिल।यूं चलाते हैं साइकिल।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..