Hindi News »Chhattisgarh News »Raipur News» Psycho Killer Made A Physical Relationship With Ladies After Killed Her

ये साइको किलर फीमेल की हत्या कर डेडबॉडी से बनाता था फिजिकल रिलेशन, यूं पकड़ा गया

ये साइको किलर फीमेल की हत्या कर डेडबॉडी से बनाता था फिजिकल रिलेशन, यूं पकड़ा गया

Brijesh Upadhyay | Last Modified - Jan 31, 2018, 04:26 PM IST


रायपुर।धमतरी जिले में पिछले 11महीने के भीतर 5 लोगों की निर्मम हत्या का खुलासा पुलिस ने बुधवार को कर दिया। आशंका जताई जा रही थी कि इन हत्याओं में कई लोगों का हाथ है। पर जब खुलासा हुआ तो सबके होश उड़ गए। फरसे और धारदार हथियार से 5 हत्याएं करने वाला कोई और नहीं बल्कि 30 साल का एक साइको किलर है। आरोपी ने पहले मामले में युवती से हत्या से पहले तो दूसरे में विवाहिता से हत्या के बाद फिजिकल रिलेशन बनाए।जानिए पूरी घटना...


- बुधवार को रायपुर में एक प्रेस कांफ्रेंस कर आईजी ने धमतरी के दो बड़े मर्डर का खुलासा कर दिया। पुलिस के मुताबिक इन पांचों हत्याओं का आरोपी कोई और नहीं बल्कि 30 साल का जितेंद्र ध्रुव है।
- पुलिस को इस तक पहुंचने के लिए साढ़े तीन लाख मोबाइल नंबर खंगालने पड़े। इसके अलावा तेलीनसत्ती, खपरी, भानपुरी, अर्जुनी, देमार, उसलापुर समेत आसपास के गांवों के 20 से 30 वर्ष उम्र वाले युवकों की मतदाता सूची की जांच की गई।
- वोटर लिस्ट की जांच में 25 से 35 लोगों को चिह्नांकित कर एक-एक युवकों की गतिविधियों पर 4 महीने तक नजर रखी गई। तब जाकर पहली घटना के करीब डेढ़ साल बाद पुलिस आरोपी तक पहुंच पाई।
- पुलिस ने बताया कि आरोपी को दोनों परिवारों के घर आना-जाना था। आरोपी शादीशुदा है और इसकी एक माह की बेटी भी है।


ऐसे दिया पहली घटना को अंजाम


- 16 अगस्त 2016 की रात अर्जुनी थाना इलाके के ग्राम खपरी में रहने वाली रुक्मणी बाई पति मानसिंग बांडे (50 वर्ष) और उसकी बेटी पार्वती बांडे (20 वर्ष) खाना खाने के बाद अपने घर के कमरे में सोई थीं।
- इधर आरोपी जितेंद्र ध्रुव ने पार्वती के साथ दुष्कर्म किया। इस दौरान उसकी मां रुक्मणी जाग गई और उसने देख लिया।
- आरोपी ने घर में रखे फावड़े से हथियार से रुक्मणी बाई की हत्या कर दी। साक्ष्य मिटाने के लिए उसने पार्वती को भी मौत के घाट उतार दिया।
- इसके बाद उसने फिर पार्वती की डेड बॉडी के साथ फिजिकल रिलेशन बनाए।
- इधर 18 अगस्त की शाम को पार्वती का भाई देवानंद घर पहुंचा। उसने देखा कि घर के भीतर मां और बहन की खून से सनी लाश पड़ी है।
- देवानंद ने आसपास के लोगों और पुलिस को घटना की जानकारी दी। पुलिस ने मौके में पहुंचकर जांच की।
- इस मामले में पुलिस को भाई के ऊपर ही शक था, लेकिन जांच में अन्य तस्वीरों ने नया मोड़ दे दिया। घटनास्थल पर खून से सना फावड़ा बरामद किया गया था।


11 महीने बाद फिर किया ऐसा काम


- 12-13 जुलाई 2017 की दरम्यानी रात ग्राम तेलीनसत्ती के महेंद्र सिन्हा पिता रामसिंह (38 वर्ष), उसकी पत्नी उषा सिन्हा (32 वर्ष), छोटा पुत्र महेश उर्फ लक्की (11 वर्ष) और बड़ा पुत्र त्रिलोक उर्फ राजा (13वर्ष) पर जितेंद्र ने धारदार हथियार से वार किया।
- जिससे मौके पर ही महेंद्र, उसकी पत्नी और छोटे बेटे लक्की की मौत हो गई महेंद्र का बड़ा पुत्र त्रिलोक गंभीर रूप से घायल हो गया। उसकी एक आंख खराब हो गई।
- फिलहाल वह अपने मामा के घर रहता है। पुलिस ने इस मामले में पहले तो महेन्द्र के रिश्तेदार पर भी शक किया था, लेकिन ऐसा हत्या का कोई आधार नहीं बना।
- आरोपी की नजर महेंद्र की पत्नी और घर में रखे गहनों पर थी। चूंकि महेंद्र की पत्नी उषा गहने गिरवी रखती थी।
- आरोपी ने प्लान बनाया और उसके घर गया। पहले उसने उषा से दुष्कर्म की कोशिश की। इसी दौरान महेंद्र भी जाग गया।
- आरोपी ने धारदार हथियार से महेंद्र और उसकी पत्नी को मौत के घाट उतार दिया। इसी दौरान बच्चे भी जाग गए।
- आरोपी ने उन्हें भी मार दिया। इसके बाद उसने आलमारी खोल ढाई लाख रुपए तक के सोने-चांदी के गहने निकाल लिए।
- फिर उसने उषा की डेड बॉडी से फिजिकल रिलेशन बनाया और गहने लेकर फरार हो गया।


पेशे से मजदूर है ये साइको किलर


- आरोपी जितेंद्र पेशे से मजदूर है। ये मूलत: भोपाल का रहने वाला है। 4 साल पहले वह अपने मामा के घर तेलीनसत्ती आया था।
- शादी के बाद वह इतवारी सिन्हा के घर में किराये में रहता था। आरोपी जितेन्द्र और मृतक महेन्द्र सिन्हा का घर आस-पास ही है।
- आरोपी की नजर महेंद्र की पत्नी पर रहती थी और वो कई दिन से इसके लिए प्लान कर रहा था।

फोटो : प्रमोद साहू


दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Raipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×