--Advertisement--

गांव की नाली में चमक रही थी चार आखें, देख तो घबरा गए ग्रामीण, हैं दहशत में

गांव की नाली में चमक रही थी चार आखें, देख तो घबरा गए ग्रामीण, हैं दहशत में

Danik Bhaskar | Dec 21, 2017, 12:35 PM IST
रायपुर के जंगल सफारी में रखा ग रायपुर के जंगल सफारी में रखा ग


राजनांदगांव। खैरागढ़ ब्लॉक मुख्यालय के गांव में नाली में तेंदुए के दो शावकों को देखकर ग्रामीणों के होश उड़ गए। सभी अपने घरों में कैद हो गए। उन्हें ये लग गया कि मादा तेंदुआ भी आस-पास ही होगी और कभी भी बच्चों के की खातिर लोगों पर अटैक कर सकती है। लोगों ने वन विभाग को सूचना दी। वन विभाग ने तेंदुए के शावकों को पिंजरे में कैद कर रायपुर भेज दिया। जानिए पूरा मामला...


- ब्लॉक मुख्यालय से करीब 18 किमी दूर स्थित मंडलाटोला से तेंदुए के दो-दो माह के दो शावकों को पकड़ा गया है।
- यहां रहने वाले ग्रामीण रामप्रसाद ने मंगलवार रात करीब साढ़े आठ बजे घर की नाली में इन्हें चलते हुए देखा और फिर वन विभाग को इसकी सूचना दी।
- रेंजर एसके साहू के नेतृत्व में वन विभाग टीम रात करीब दो बजे वहां पहुंची और दोनों शावकों को अपने कब्जे कर लिया। बुधवार को इन्हें जंगल सफारी रायपुर भेज दिया गया।
- गुरुवार को ये तेंदुए के बच्चे जंगल सफारी में उछल-कूद करते हुए देखे गए।


लोग हैं दहशत में...


- गांव के लोग अभी दहशत में है। उनका कहना है कि मादा तेंदुआ गांव के आस-पास ही होगी।
- शावकों के लिए वो लोगों पर अटैक कर सकती है। ऐसे में लोग सजग हैं।


ये है इनकी डाइट


- दोनों शावकों को बकरी का दूध और चिकन का कीमा दे रहे हैं। बच्चों की उम्र 35-40 दिन है।
- इन्हें जंगल सफारी के वेटनरी हॉस्पिटल में रखा गया है। इन्हें मेडिकल करने के बाद जंगल में छोड़ा जा सकता है।

शावक हैं बीमार

- जंगल सफारी के एसडीओ अरूण तिवारी ने बताया कि दोनों शावक अभी बीमार हैं उन्हें अभी प्रिकॉशन में रखा गया है।

- उपचार तक यही रखा जाएगा उसके बाद उच्चधिकारियों के निर्देश के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी।


फोटो : कौशल स्वर्णबेर

आगे की स्लाइड्स में क्लिक करके देखिए खबर की और Photos...