--Advertisement--

गायों की मौत के बाद जागा वेटेरनरी विभाग, कांजी हाउसों का प्रबंध होगा चुस्त-दुरुस्त पंचायतों को जिम्मा सौंपा

गायों की मौत के बाद जागा वेटेरनरी विभाग, कांजी हाउसों का प्रबंध होगा चुस्त-दुरुस्त पंचायतों को जिम्मा सौंपा

Danik Bhaskar | Jan 16, 2018, 04:35 PM IST
फाइल फोटो। फाइल फोटो।


रायपुर। प्रदेश में कांजी हाउसों में गायों की लगातार मौत के मामले सामने आने के बाद वेटनरी विभाग जागा है। उसने कांजी हाउसों का प्रबंधन सुधारने के निर्देश दिए हैं। पंचायतों को इसकी जिम्मेदारी दी गई है। जानिए पूरी खबर...


- पशुधन विकास विभाग ने पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग को ग्राम पंचायत क्षेत्रों में संचालित कांजी हाउसों का ढंग से रख-रखाव करने को कहा है।

- विभाग ने इस बारे में मंत्रालय से सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग को पत्र भी भेजा है।

- इसमें कहा गया है कि राज्य में गौ संरक्षण की दिशा में किए जा रहे प्रयासों के कारण ग्राम पंचायत क्षेत्रों में संचालित कांजी हाउस के उचित रख-रखाव की आवश्यकता है।

- इस संबंध में स्थानीय जनप्रतिनिधियों द्वारा कांजी हाउस के उचित प्रबंधन का सुझाव दिया जा रहा है। इन परिस्थितियों में पंचायत क्षेत्रों में संचालित कांजी हाउस में पर्याप्त संसाधन व उचित प्रबंधन प्राथमिकता से करना जाना जरूरी हो गया है।

- छत्तीसगढ़ पंचायत राज अधिनियम 1993 की धारा-49 के खण्ड-16 के अनुसार कांजी हाउस की स्थापना, प्रबंधन एवं पशुओं से संबंधित अभिलेखों का उचित रख-रखाव पंचायतों के कार्यों में शामिल हैं।

- इसके प्रभावी क्रियान्वयन के लिए दिशा-निर्देश बनाते हुए समुचित कार्रवाई की जाए। इस मामले में नगरी प्रशासन एवं विकास विभाग ने नगरी निकायों के क्षेत्रों में कांजी हाउसों के संचालन एवं प्रबंधन से संबंधित दिशा-निर्देश जारी करके समुचित कार्रवाई करने कहा है।

- पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग से भी अपेक्षा है कि इस संबंध में समुचित दिशा-निर्देश जारी कर कांजी हाउस के प्रभावी प्रबंधन की दिशा में ठोस कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।