--Advertisement--

मंत्री को आसंदी ने दी हिदायत, कहा- च्सवालों का संतुलित जवाब दें मंत्री

मंत्री को आसंदी ने दी हिदायत, कहा- च्सवालों का संतुलित जवाब दें मंत्री

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 04:05 PM IST

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा में कार्यवाही जारी है 4 दिनों के शीतकालीन सत्र का बुधवार को दूसरा दिन था। मंत्री अजय चंद्राकर और मंत्री दयालदास बघेल अपने विभागों से संबंधित सवालों के जवाब सदन में दे रहे थे। इधर विधायक दीपक बैज के सवाल पर मंत्री अजय चंद्राकर को आसंदी ने हिदायत देते हुए कहा कि विधानसभा के सदस्यों के सवालों पर मंत्री संतुलित जवाब दें। आसंदी ने कही ये बात...

- आसंदी ने कहा कि सदस्यों को सवाल पूछने का अधिकार है और मंत्रियों को चाहिए कि वे संतुलित जवाब दें। बता दें कि दीपक बैज ने प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत बनाई गई सड़कों को लेकर सवाल पूछा था।
- सत्ता पक्ष के विधायक देवजी भाई पटेल ने प्रदेश में डॉक्टरों और तकनीकी स्टाफ की कमी का मामला उठाया।

- जिस पर स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर ने कहा कि ये प्रदेश का ज्वलंत मुद्दा है। ये विषय आता रहा है, और आता रहेगा।

- उन्होंने कहा कि जिला अस्पतालों में डॉक्टरों के 465 पद रिक्त हैं, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में 1234 पद रिक्त हैं, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में 1699 पद खाली हैं।
- अजय चंद्राकर ने कहा कि छत्तीसगढ़ में 150 मेडिकल की सीटें थी, जो अब ग्यारह सौ से ज्यादा हो गई हैं।

- उन्होंने कहा कि एक दशक में जितने मेडिकल कॉलेज छत्तीसगढ़ में खुले हैं, उतने देश के किसी राज्य में नहीं खोले गए हैं।
- अजय चंद्राकर ने कहा कि 10 सालों में हम डॉक्टरों की जरूरतों को पूरा कर सकेंगे, बल्कि देश के दूसरे राज्यों को भी प्रदेश से डॉक्टर दे सकेंगे।

- उन्होंने कहा कि तीन मेडिकल कॉलेजों में पहला बैच निकल रहा है। चंद्राकर ने कहा कि एमबीबीएस पढ़कर निकलने वालों को दो साल ग्रामीण इलाकों में जाकर काम करने की अनिवार्यता भी है, इसका सख्ती से पालन किया जाएगा। चंद्राकर ने कहा कि 423 पदों को स्वीकृति दी गई है।