--Advertisement--

प्रेमिका के गले में जब देखी ये चीज तो उबल गया प्रेमी, फिर उठाया ये कम

प्रेमिका के गले में जब देखी ये चीज तो उबल गया प्रेमी, फिर उठाया ये कम

Danik Bhaskar | Nov 28, 2017, 01:03 PM IST
लोकेश्वरी के गले में दूसरे प्र लोकेश्वरी के गले में दूसरे प्र

बालोद((छत्तीसगढ़) । तीन दिन पहले 12वीं की एक छात्रा की सुसाइड की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। पुलिस का कहना है कि ये सुसाइड नहीं बल्कि मर्डर है। पुलिस ने आरोपी प्रेमी को हिरासत में ले लिया। प्रेमी ने मर्डर की वजह बेवफाई बताई। उसने बताया कि लड़की के गले में एक दूसरे लड़के का गिफ्ट का हुआ मेडल देख उसने मौत के घाट उतार दिया। जानिए पूरी घटना...

- घटना 24 दिसंबर की है। गुंडरदेही के अर्जुन्दा थाना क्षेत्र के ग्राम कांदुल में 12वीं में पढ़ने वाली छात्रा लोकेश्वरी साहू का शव शुक्रवार की शाम उसके घर में स्कूल की ड्रेस में चुनरी से फंदे पर लटका मिला था। जब पुलिस ने जांच की तो पता चला कि मृतका लोकेश्वरी के घर के सामने रहने वाले संतोष साहू ने इस घटना को अंजाम दिया है।

ये कहानी आई सामने

- पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार लोकेश्वरी का आरोपी संतोष के साथ पिछले कई सालों से प्रेम प्रसंग था। वो उसके घर के सामने ही रहता है। दोनों एक ही कास्ट के थे और आरोपी लोकेश्वरी से शादी करना चाहता था। इधर कुछ महीने से लोकेश्वरी का उसकी एक सहेली के भाई से अफेयर हो गया। वो क्रिकेट का अच्छा खिलाड़ी है। उसने एक टूर्नामेंट में मैन ऑफ द मैच का मेडल मिला था। उसने ये मेडल अपनी बहन के जरिए लोकेश्वरी को गिफ्ट कर दिया था।

- लोकेश्वरी ये मेडल गले में डालकर घूमती थी। घटना के दिन स्कूल से 4:30 बजे घर आने के बाद जैसे ही लोकेश्वरी बैग रखकर थाली में खाना लिए खड़ी थी, आरोपी उसके घर में दाखिल हुआ। अंदर से दरवाजा बंद कर शादी करने की बात करने लगा। लोकेश्वरी ने कहा कि मैं तुमसे शादी करने से अच्छा मर जाना पसंद करूंगी। उस समय छात्रा स्कूल ड्रेस में ही थी। उसके गले में दूसरे प्रेमी का दिया हुआ मेडल भी लटका हुआ था। यह देखकर आरोपी गुस्सा हो गया।

यूं मारकर लटका दिया ताकि लोग सुसाइड समझें

- थोड़ी देर के बाद आरोपी ने लोकेश्वरी को सिर के बल जमीन पर पटक दिया। छात्रा के सिर और नाक में चोट आई। इस समय वो अधमरी सी हो गई। वो बच ना जाए इस डर से आरोपी ने चुनरी के एक छोर से कस कर गला दबा दिया। दूसरे छोर को बरामदे में बांस से बांध कर फांसी का फंदा बनाकर उससे लटका दिया। फिर पड़ोसी की दीवार फांदकर मौके से फरार हो गया। इस दौरान घर में और कोई नहीं आ पाया। दस मिनट के अंदर छात्रा फंदे में झूलती रही, फिर दम घुटने से मौत हो गई।

सहेली ने दिया पुलिस को सुराग

- पुलिस ने बताया कि मृतका की सहेली जब सुबह उसे स्कूल के लिए लेने पहुंची तब भी आरोपी घर में ही था और उससे झगड़ रहा था। तब उसने लोकेश्वरी की सहेली को वहां से चले जाने के लिए कहा और बोला कि वो बहुत जरूरी बात कर रहा है। ऐसे में सहेली भड़क गई और बोली कि वो क्यों चली जाए। वो कौन होता है उसे ये कहने वाला। वो लोकेश्वरी को लेने आई है। दोनों को स्कूल जाना है। ऐसे में आरोपी उस वक्त वहां से चला गया था। इसी आधार पर पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने सब उगल दिया।

फोटो : ब्रजेश पांडेय

आगे की स्लाइड्स में देखें और फोटोज...