Hindi News »Chhattisgarh News »Raipur News »News» Meat And Eggs Of Kadaknath Chicken Is So Healthy

750 रुपए किलो बिकता है ये, सर्दियों में इसलिए बढ़ जाती है इसकी डिमांड

dainikbhaskar.com | Last Modified - Nov 14, 2017, 01:56 PM IST

सर्दी ने दस्तक दे दी है। ऐसे में छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध कड़कनाथ मुर्गे की मांग भी अब बढ़ने लगी है।
  • 750 रुपए किलो बिकता है ये, सर्दियों में इसलिए बढ़ जाती है इसकी डिमांड
    +6और स्लाइड देखें
    कड़कनाथ

    रायपुर।सर्दी ने दस्तक दे दी है। ऐसे में छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध कड़कनाथ मुर्गे की मांग भी अब बढ़ने लगी है। सर्दी से बचने के लिए न केवल इस मुर्गे का मीट और अंडा बेहतर होता है बल्कि इसमें प्रोटीन ज्यादा और फैट कम होने से ये डायबिटीज और हार्ट पेशेंट के लिए भी काफी लाभदायक होता है। प्रदेश में इस वक्त सालाना कड़कनाथ के 70 हजार चूजे पैदा हो रहे हैं। इसकी कीमत सीजन के हिसाब से घटती-बढ़ती रहती है। एक किलो का कड़कनाथ 500 से 750 रुपए किलो के हिसाब से बिकता है। इन्हें महाराष्ट्र, उड़ीसा और जम्मू कश्मीर तक भेजा जा रहा है। जानिए क्या है कड़कनाथ मुर्गे की खासियत...
    - कड़कनाथ मुर्गा का उत्पादन इस समय कांकेर, दंतेवाड़ा समेत कई जिलों में बड़े स्तर पर हो रहा है। ब्लैक मशरूम के अलावा ये काला कड़कनाथ में छत्तीसगढ़ की पहचान बन चुका है।
    - स्थानीय भाषा में कड़कनाथ को कालीमासी भी कहते हैं। इसका मांस, चोंच, जुबान, टांगे, चमड़ी, अंडे वगैरह सब कुछ काला होता है।
    - यह प्रोटीनयुक्त होता है और इसमें वसा नाममात्र रहता है। कहते हैं कि दिल और डायबिटीज के रोगियों के लिए कड़कनाथ बेहतरीन दवा है। इसके अलावा कड़कनाथ को सेक्स वर्धक भी माना जाता है।

    यूं लखपति बना देता है ये मुर्गा

    - काले रंग की इस कड़कनाथ मुर्गी का एक अंडा 50 रुपये तक में बिकता है। मुर्गी और मुर्गे की कीमत भी बॉयलर के मुकाबले करीब दोगुनी है। मुर्गी और मुर्गे की कीमत भी बॉयलर के मुकाबले करीब दोगुनी है। इसका पालन करने वाले लोग देखते ही देखते लखपति बन गए हैं।
    - अब कड़कनाथ की मांग देश भर में होने लगी है। कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होने और एमीनो एसिड ज्यादा होने के चलते ये काफी डिमांड में है।

    कृषि विश्वविद्यालय करेगा एमओयू

    - छत्तीसगढ़ के कड़कनाथ को दूसरे राज्यों के बाजारों में बेहतर तरीके से उतारने के लिए कृषि विवि मंगलवार को आदिवासी उद्यमिता सम्मेलन में एक संस्था के साथ एमओयू करेगा।
    - माना जा रहा है कि इस एमओयू से इन मुर्गों को बेहतर बाजार मिल जाएगा।

    आगे की स्लाइड्स में क्लिक करके देखिए इस खबर से जुड़ी और Photos...
  • 750 रुपए किलो बिकता है ये, सर्दियों में इसलिए बढ़ जाती है इसकी डिमांड
    +6और स्लाइड देखें
    कड़कनाथ का अंडा और मीट बिकता है काफी महंगा।
  • 750 रुपए किलो बिकता है ये, सर्दियों में इसलिए बढ़ जाती है इसकी डिमांड
    +6और स्लाइड देखें
    ऐसा होता है इसका अंडा।
  • 750 रुपए किलो बिकता है ये, सर्दियों में इसलिए बढ़ जाती है इसकी डिमांड
    +6और स्लाइड देखें
    ऐसा होता है ये कड़कनाथ और इसके चूजे।
  • 750 रुपए किलो बिकता है ये, सर्दियों में इसलिए बढ़ जाती है इसकी डिमांड
    +6और स्लाइड देखें
    खूब कमाई कराता है ये कड़कनाथ।
  • 750 रुपए किलो बिकता है ये, सर्दियों में इसलिए बढ़ जाती है इसकी डिमांड
    +6और स्लाइड देखें
    छोटे लेवल पर यूं होता है उत्पादन।
  • 750 रुपए किलो बिकता है ये, सर्दियों में इसलिए बढ़ जाती है इसकी डिमांड
    +6और स्लाइड देखें
    दूसरे राज्यों में भी है कड़कनाथ के अंडे और मीट की भारी मांग।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Raipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Meat And Eggs Of Kadaknath Chicken Is So Healthy
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×