Hindi News »Chhattisgarh News »Raipur News» Wife Was Compel To Live With Dead Body Of Husband In Manendragarh Chhattisgarh

पति की सड़ी हुई डेड बॉडी के ६ दिन तक रही पत्नी, वजह ऐसी कि शॉक्ड रह गए लोग

पति की सड़ी हुई डेड बॉडी के ६ दिन तक रही पत्नी, वजह ऐसी कि शॉक्ड रह गए लोग

Brijesh Upadhyay | Last Modified - Nov 01, 2017, 05:42 PM IST

बैकुंठपुर।एक प्रेमी जोड़े को समाज ने लव मैरिज की ऐसी सजा दी कि पति की मौत के बाद भी पत्नी पर किसी को तरस नहीं आई। मजबूरी ऐसी कि पत्नी घर में ही पति की डेड बॉडी के साथ 6 दिनों तक रही और आंसू बहाती रही। जब डेड बॉडी से बदबू आने लगी और पड़ोसियों को परेशानी होने लगी तो उन्होंने पुलिस को सूचित भर कर दिया। बुधवार सुबह पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराकर डेड बॉडी पत्नी को सुपुर्द कर दिया। खुद दफनाना पड़ा पति का शव...

- घटना मनेंद्रगढ़ थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत परसगढ़ी का है। परसगढ़ी में रहने वाली मानमती गोड़ ने लगभग 25 वर्ष पूर्व मनेन्द्रगढ़ के एक रिक्शा चालक शिवनाथ से प्रेम विवाह किया था।

- मानमति शादीशुदा थी और उसका एक बेटा भी था। उसने परिवार और पति को छोड़ शिवनाथ को अपना लिया। यही बात पूरे गांव के लोगों को खटकती थी और तब से लोगो ने मानमती और उसके पति का हुक्का पानी तक बंद कर दिया।
- दूसरी शादी से मानमति की कोई संतान नहीं है। मानमति परसगढ़ी की ही रहने वाली है। ऐसे में शादी के बाद शिवनाथ भी यहीं रहने लगा था। पिछले कुछ दिनों से शिवनाथ काफी बीमार था।
- 26 अक्टूबर को शिवनाथ की मौत हो गई। चूंकि इस परिवार को समाज ने प्रेम विवाह के चलते बहिष्कृत कर रखा है। कोई न इन्हें सामाजिक कार्यक्रमों में शामिल करता है और न ही कोई इनसे बातचीत करता है।
- ऐसे में शिवनाथ की मौत के बाद मानमति अकेले पति को दफन कर पाने में मजबूर थी। वो रोती रही और पति की डेड बॉडी के साथ 6 दिनों तक घर में ही रही।
- इधर डेड बॉडी की सड़न और बदबू से परेशान पड़ोसियों को पुलिस को इसकी जानकारी दी।
- पुलिस ने पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया और मानमति को सौंप दिया। फिर मानमति ने घर की बाड़ी में गड्ढा खोदकर पति को दफना दिया।


मदद करने नहीं आए लोग


- इधर मानमति ने पुलिस को बताया कि उसने पति की मौत की खबर पड़ोसियों और रिश्तेदारों को दी थी। तब उन्होंने अंतिम संस्कार में शामिल होने और मदद करने से मना कर दिया था।
- इसके बाद मजबूर मानमति पति की शव की रखवाली करती रही। जब शव में सड़ने होने लगी और कीड़े पड़ने लगे तब परेशान होकर मजबूरन पड़ोसियों ने पुलिस को खबर दी। इधर पड़ोसी इस बात से इंकार कर रहे हैं। उनका कहना है कि उन्हें मौत की खबर 5 दिन बाद लगी।
- इधर बुधवार को हुए अंतिम संस्कार में भी कोई शामिल नहीं हुआ।

पंचायत में लिया गया था फैसला

- सूत्रों के मुताबिक मानमति ने सरपंच को भी इस बात की जानकारी दी थी। सरपंच ने पंचायत बुलाई थी और वहां सर्वसम्मति से ये फैसला हुआ था कि मानमति की कोई मदद नहीं करेगा।

- इधर सरपंच अब इस बात से मुकर रहे हैं। उनका कहना है कि पंचायत बुलाई तो गई थी पर 26 को नहीं बल्कि 28 अक्टूबर को बुलाई गई थी।


फोटो : गुरदीप अरोरा

वीडियो : दिनेश द्विवेदी


आगे की स्लाइड्स में क्लिक करके देखिए खबर की और Photos...

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Raipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×