न्यूज़

--Advertisement--

रिजर्व बैंक ने भेजा बड़ा कैश, एटीएम तीन दिन बाद फुल होंगे आज, पहली तारीख को ही मिल जाएगी सैलरी

महीने की पहली तारीख होने और कैश का संकट होने के बावजूद मंगलवार को राजधानी के बैंकों और एटीएम में पैसे का संकट नहीं रहेगा

Danik Bhaskar

May 01, 2018, 07:43 AM IST

रायपुर. तीन दिन की लगातार छुट्टी की वजह से राजधानी के अधिकांश अधिकांश एटीएम खाली हो गए। हफ्ते के पहले दिन यानी सोमवार को भी लोगों को पैसे नहीं मिले। इनमें बाजारों के एटीएम सबसे ज्यादा खाली हुए और लोगों को कैश के लिए भटकते देखा गया। लेकिन तीन दिन की छुट्टी के बाद मंगलवार को सारे बैंक सुबह खुल जाएंगे। यही नहीं, सुबह 8 बजे से ही स्टेट बैंक के 200 और दूसरे बैंकों के करीब 150 एटीएम में कैश भरने का काम शुरू कर दिया जाएगा ताकि लोगों को घर से निकलते ही एटीएम से कैश मिलने लगे। बैंकों के सुरक्षा अधिकारियों को जरूरी निर्देश के साथ इस काम में लगा दिया गया है। एटीएम में नोट डालने के लिए करेंसी चेस्ट भी सुबह ही खोल दिए जाएंगे।


नागपुर से जल्द आएगी एक और खेप

महीने की पहली तारीख होने और कैश का संकट होने के बावजूद मंगलवार को राजधानी के बैंकों और एटीएम में पैसे का संकट नहीं रहेगा। वजह ये है कि सैलरी और पेंशन बांटने के लिए रिजर्व बैंक नागपुर से 100 करोड़ रुपए से ज्यादा की रकम बैंकों में पहले ही पहुंचाई जा चुकी है। सूत्रों के अनुसार नागपुर से एक और खेप जलदी ही आ जाएगी। इसलिए नगदी के लिए किसी भी बैंक शाखा में कोई परेशानी नहीं होगी। रिजर्व बैंक से मिले बड़े नोटों को अभी बैंकों की शाखाओं में ही भेजा जा रहा है। ताकि सैलरी और पेंशन आसानी से बंट सके। सैलरी बांटने के बाद बड़े नोटों के बंडल यानी दो हजार के नोट एटीएम में भी डाले जाएंगे। इस हफ्ते के आखिर से बड़े नोट एटीएम से भी मिलने शुरू हो जाएंगे। इससे लोगों की कई तरह की परेशानियां खत्म हो जाएंगी और कैश की कमी भी दूर हो जाएगी।

छुट्टियों से लोग परेशान
बैंकों में लगातार छुट्टी की वजह से हो रही लोगों की परेशानी पर छत्तीसगढ़ कंफेडरेशन आॅफ आॅल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने गवर्नर उर्जित पटेल को चिट्ठी लिखी है। कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी के अनुसार बैंकों में लंबी छुट्टियों की वजह से कारोबारियों और आम लोगों को डिजिटल पेमेंट में भी दिक्कत हो रही है। लंबी छुट्टी में सबसे बड़ी दिक्कत ये है कि नगद लेनदेन 10000 तक प्रतिबंधित है, तो डिजिटल से भी 50000 तक ट्रांजेक्शन हो रहे हैं। इससे सभी परेशान हैं।

Click to listen..