--Advertisement--

पेट्रोल-डीजल की कीमतों के विरोध में घोड़े अौर साइकिल लेकर आए कांग्रेसी

सुबह 5 बजे से सड़क पर उतरे, स्कूल-कॉलेज, दुकानें, पेट्रोल पंप सब बंद

Danik Bhaskar | Sep 10, 2018, 10:24 AM IST
भारत बंद के दौरान रायपुर में दुर्ग जा रही बस को रोककर कांग्रेसियों ने किया प्रदर्शन भारत बंद के दौरान रायपुर में दुर्ग जा रही बस को रोककर कांग्रेसियों ने किया प्रदर्शन

- भारत बंद : राजधानी रायपुर सहित पूरे छत्तीसगढ़ में बंद का व्यापक असर

रायपुर/दोरनापाल. पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में सोमवार को कांग्रेस के बुलाए गए भारत बंद का व्यापक छत्तीसगढ़ में भी देखने को मिल रहा है। राजधानी रायपुर सहित प्रदेशभर में दुकानें, पेट्रोल पंप सब बंद हैं। रायपुर के स्कूल-कॉलेजों में भी छुट्टी कर दी गई हैं। कांग्रेसी सुबह 5 बजे से बंद के समर्थन में सड़क पर उतर आए। साइकिल और घोड़े लेकर आए कांग्रेसियों ने रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड के पास खुली दुकानों को भी बंद करा दिया। खास बात कि इस बंद का असर नक्सली इलाके दोरनापाल, सुकमा में भी दिखाई दे रहा है।

किया गया नुक्कड़ नाटक, महंगाई का पुतला किया दहन

कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया, विकास उपाध्याय और अन्य नेताओं के नेतृत्व में कार्यकर्ता राजधानी में व्यापक प्रदर्शन कर रहे हैं। इस दौरान जय स्तंभ चाैक पर नुक्कड़ नाटक के माध्यम से महंगाई और सरकार की नीतियों को दिखाया गया। वहीं प्रदेश में कई स्थानों पर कांग्रेसियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और महंगाई का पुतला भी फूंका।

महंगाई डायन खाय जात है

प्रदर्शन के दौरान कांग्रेसी नेताओं ने कहा कि प्रतीकात्मक विरोध के जरिए यह बताने की कोशिश की जा रही है कि आमजन को महंगाई डायन खाय जात है। यह डायन आम लोगों का खून चूस रही है। कांग्रेस नेताओं कहा, बंद को लेकर सभी का सहयोग मिला है। बंद का काफी असर है। अाम लोगों की जेब पर सीधा असर पड़ रहा है, लेकिन इस सरकार कोई फर्क नही पड़ रहा है। जनता काफी परेशान है।

राजधानी में सुबह से कराया गया बंद

- विकास उपाध्याय के नेतृत्व सुबह 5 बजे से ही कांग्रेस समर्थकों ने बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, तेलीबांधा चौक, जय स्तम्भ चौक सहित कई चौक चौराहों पर बन्द कराया।

- वहीं रायपुर उत्तर के पूर्व विधायक कुलदीप जुनेजा के नेतृत्व में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने भी राजधानी रायपुर के शंकर नगर, लोधीपारा चौक, पंडरी इलाके में बन्द कराया।

- कांग्रेस के बड़े नेता जय स्तंभ चौक पर जुटें और बंद को सफल बनाने का आह्वान किया। कई जगहों पर प्रधानमंत्री और महंगाई का पुतला भी दहन किया गया।

नक्सल प्रभावित क्षेत्र में भी बंद का असर

प्रदेश के नक्सल प्रभावित क्षेत्र माने जाने वाले सुकमा, दोरनापाल, ताेंगपाल और गादीरास में भी बंद का व्यापक असर है। सड़कों पर सन्नाटा पसरा है और दुकानें व प्रतिष्ठान बंद हैं। कांग्रेस के इस बंद को कुछ स्थानीय संगठनों ने भी समर्थन दिया है।

चैंबर ऑफ कॉमर्स भी समर्थन में, परीक्षाओं की तिथी बढ़ाई

भारत बंद काे छत्तीसगढ़ चैंबर ऑफ कॉमर्स में भी समर्थन दिया है। जिसके चलते कारोबार ठप है। राजधानी के लगभग सभी स्कूल-कालेजों में अघोषित छुट्टी हो गई है। राजधानी के पेट्रोल पंप, मॉल-मल्टीप्लेक्स और टाकीजें भी दोपहर 3 बजे के बाद खुलेंगी। बंद के दौरान बसों और ऑटो रिक्शों को भी रोका जा रहा है। जिन स्कूल और कॉलेजों में सोमवार को परीक्षाएं होनी थीं, उनकी तारीखें आगे बढ़ा दी गई हैं। कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने कहा कि बंद को छत्तीसगढ़ चैंबर, व्यापारी संघों, निजी स्कूल-कॉलेज, ऑटो, बस संघ समेत कई संस्थाओं का समर्थन है।

इमरजेंसी सेवाएं बंद से मुक्त

कांग्रेस ने केवल दवा दुकानों और मिल्क पार्लरों को ही बंद से मुक्त रखा है। राजधानी ऑटो और बस संघ ने बंद के समर्थन में दोपहर 3 बजे तक परिचालन बंद रखने का फैसला लिया है, इसलिए लोगों को आने-जाने का साधन नहीं मिलेगा। बंद से अस्पताल, दवाई दुकान, मिल्क पार्लर और कुछ घंटों में खराब होने वाली चीजों को छूट दी गई है। बंद का असर बैंकों और सरकारी दफ्तरों में नहीं होगा। बैंकों में सामान्य दिनों की तरह कामकाज होगा। सुरक्षा कारणों से बैंकों के शटर आधे गिरे रह सकते हैं, लेकिन काम चलेगा।

कंटेंट : भूपेश केसरवानी/नीरज भदौरिया

फोटो : भूपेश केसरवानी

भारत बंद के दौरान रायपुर में महंगाई के विरोध में नुक्कड़ नाटक करते कांग्रेसी भारत बंद के दौरान रायपुर में महंगाई के विरोध में नुक्कड़ नाटक करते कांग्रेसी
भारत बंद के दौरान रायपुर में महंगाई के विरोध में रैली निकालकर बंद कराते नुक्कड़ नाटक करते कांग्रेसी कार्यकर्ता भारत बंद के दौरान रायपुर में महंगाई के विरोध में रैली निकालकर बंद कराते नुक्कड़ नाटक करते कांग्रेसी कार्यकर्ता