20 साल में 10 डिग्री बढ़ा तापमान, सैटेलाइट इमेज में आग के गोले जैसा दिख रहा रायपुर

Raipur News - औद्योगिक क्षेत्र, पानी, हरियाली की कमी और खाली पड़ी जमीन के कारण राजधानी के आउटर का हिस्सा दहकते अंगारे की तरह दिखने...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:25 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news 10 degrees high temperature in 20 years raipur looks like a fireball in satellite image
औद्योगिक क्षेत्र, पानी, हरियाली की कमी और खाली पड़ी जमीन के कारण राजधानी के आउटर का हिस्सा दहकते अंगारे की तरह दिखने लगा है। एनआईटी के एप्लाइड जियाेलॉजी डिपार्टमेंट की स्टडी में यह खुलासा हुआ है कि शहर के बीचोंबीच जहां बड़ी संख्या में तालाब थे, वे कम हो गए हैं, इसलिए धीरे-धीरे तापमान बढ़ता जा रहा है। एनआईटी के एप्लाइड जियोलॉजी डिपार्टमेंट के स्टूडेंट सुभानिल गुहा के रिसर्च में यह बात सामने आई है। असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. हिमांशु गोविल ने बताया कि शहर के बीच के हिस्से में अभी भी तालाब और हरियाली है, इसलिए यहां थोड़ी राहत है, लेकिन उरला औद्योगिक क्षेत्र में काफी हिस्से में हॉट स्पॉट बढ़े हैं।

डूंडा और देवपुरी के हिस्से में भी हॉट स्पॉट हैं। इसके पीछे उद्योगों के साथ-साथ खाली जमीन और कंक्रीट के निर्माण बड़ी वजह हैं। रायपुर जिले के सैटेलाइट इमेज के आधार पर असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. गोविल के साथ सुभानिल और संदीप मुखर्जी ने छह महीने में यह रिपोर्ट तैयार की है।

पौधरोपण के दावे हो रहे फेल

हर साल हरियर छत्तीसगढ़ अभियान के तहत राजधानी के साथ-साथ इंडस्टि्यल एरिया और आउटर में पौधरोपण किया जाता है, लेकिन सैटेलाइट इमेज से यह साफ है कि पौधरोपण के बाद देखभाल नहीं होने से सर्वाइव नहीं कर रहे हैं। हरियाली घटने का असर शहर के तापमान पर पड़ रहा है। राजधानी में जीई रोड के पौधे सड़क चौड़ीकरण के दौरान हटाए गए थे। सड़क व लगातार निर्माण के कारण भी हरियाली पहले के मुकाबले कम हुई है।

इस तरह साल दर साल बदलता जा रहा रायपुर का नक्शा

1995

2009

गांव और शहरों में इसलिए तापमान में आ रहा अंतर

ग्रामीण

कम

LST

Degree celcius

24.54-27.64

27.64-30.73

30.73-33.83

33.83-36.92

36.92-40.01

40.01-43.11

43.11-46.20

46.2049.30

ऊष्मा का अवशोषण और अवधारण

पौधों और जमीन से वाष्पोत्सर्जन (भाप बनना)

पानी का जमीन के भीतर जाना

2006

2016

शहर

अधिक

3-10 से. गर्म

पटते जा रहे हैं शहर के तालाब

रायपुर में पहले 200 से ज्यादा तालाब थे, जो घटकर अब आधे से भी कम हो गए हैं। इसमें भी तालाबों का क्षेत्रफल काफी कम हो गया है। पहले बूढ़ा तालाब, महाराज बंद तालाब, नरैया तालाब आदि एक-दूसरे से जुड़े थे, जिससे जल स्तर बना रहता था। अब ये सभी तालाब कचरे और अतिक्रमण से पटते जा रहे हैं। तालाबों के कारण तापमान नियंत्रित रहता था। इसके विपरीत तालाबों के कम होने से जल स्तर कम होने के साथ-साथ तापमान में वृद्धि हो रही है।

500 से ज्यादा उद्योगों के कारण बढ़ रही गर्मी

उरला औद्योगिक इलाके में 500 से ज्यादा स्टील व रोलिंग मिले हैं। उद्योगों में लगातार प्रोडक्शन के साथ-साथ प्रदूषण के कारण से भी तापमान ज्यादा है। इससे लगे काफी हिस्से में खेती नहीं हो रही है। इन खाली जगहों पर भी तापमान में वृद्धि हो रही है। इसमें मुरूम वाली जमीन भी एक कारण है, क्योंकि जमीन पहले तापमान को एब्जार्ब करती है, फिर उसे वापस छोड़ती है। इससे ज्यादा तापमान का अनुभव होता है।

पिछले दस साल में जून महीने में अधिकतम तापमान

2018 41.0

2017 43.8

2016 44.1

2015 44.9

2014 45.9

2013 42.2

2012 46.9

2011 43.0

2010 45.4

2009 44.5

Raipur News - chhattisgarh news 10 degrees high temperature in 20 years raipur looks like a fireball in satellite image
Raipur News - chhattisgarh news 10 degrees high temperature in 20 years raipur looks like a fireball in satellite image
Raipur News - chhattisgarh news 10 degrees high temperature in 20 years raipur looks like a fireball in satellite image
X
Raipur News - chhattisgarh news 10 degrees high temperature in 20 years raipur looks like a fireball in satellite image
Raipur News - chhattisgarh news 10 degrees high temperature in 20 years raipur looks like a fireball in satellite image
Raipur News - chhattisgarh news 10 degrees high temperature in 20 years raipur looks like a fireball in satellite image
Raipur News - chhattisgarh news 10 degrees high temperature in 20 years raipur looks like a fireball in satellite image
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना