चंगोराभाठा कांड में अपराधियों पर 50 हजार इनाम, नई जांच टीमें बनीं

Raipur News - क्राइम रिपोर्टर . रायपुर | रिंग रोड-1 से लगे दो इलाके चंगोराभाठा और प्रोफेसर कॉलोनी में लूट की जांच के लिए आईजी डॉ....

Bhaskar News Network

Feb 14, 2019, 03:15 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news 50 thousand reward for criminals in changaora chanda new investigation teams remained
क्राइम रिपोर्टर . रायपुर | रिंग रोड-1 से लगे दो इलाके चंगोराभाठा और प्रोफेसर कॉलोनी में लूट की जांच के लिए आईजी डॉ. आनंद छाबड़ा ने एक दर्जन टीमें गठित कर रही हैं। इन टीमों ने नए सिरे से जांच भी शुरू कर दी है। टीमें इसलिए बनाई गईं क्योंकि 13 दिन बाद भी चंगोराभाठा गोलीकांड में पुलिस को अपराधियों का क्लू नहीं मिला। सिर्फ लुटेरों का धुंधला फुटेज ही मिल पाया है। यही नहीं, प्रभारी आईजी ने इस वारदात में अपराधियों पर 50 हजार रुपए का इनाम घोषित कर दिया है।

नई टीमों ने मंगलवार की रात घटनास्थल की नए सिरे से पड़ताल शुरू की है। कॉल डिटेल नए सिरे से खंगाले जा रहे हैं। आसपास रहने वाले पांच हजार से ज्यादा किराएदारों का सत्यापन किया गया है। गौरतलब है, इस वारदात पुलिस अब तक दो सौ ज्यादा कैमरों का फुटेज खंगाल चुकी है। नई टीमें एक बार फिर 15 दिन के फुटेज खंगाल रही हैं, ताकि संदेहियों का क्लू मिले। वारदात के बाद लुटेरों का महादेव घाट की ओर जाते हुए फुटेज मिला है, लेकिन उसके बाद से फुटेज गायब हैं। पुलिस को अब भी शक है कि लुटेरे वारदात के बाद आसपास ही रुके होंगे।

चेन लूट में लोकल लड़के : प्रोफेसर कॉलोनी सेक्टर-4 में शिक्षिका क्षमा शर्मा से लूटपाट करने वाले का क्लू मिल गया है। लूट में लोकल लड़के शामिल है, जो घटना के बाद से गायब है। पुलिस की टीम उनकी तलाश में जुटी हुई है। पुलिस के पास लुटेरों का हुलिया भी आ गया है। आरोपी टिकरापारा के आसपास के रहने वाले हैं।

हालांकि वारदात के बाद हड़बड़ी में भागे लुटेरों के पास सिर्फ आधा तोले की चेन ही रह गई, एक तोले का लॉकेट गिर गया था जो वहीं मिल गया।

प्रभारी आईजी डॉ छाबड़ा ने दोनों लूट की नए सिरे से शुरू करवाई जांच

अनुपस्थित स्टेनो ने नोटिस के जवाब में दिया हिसाब

रायपुर | ईओडब्लू से साढ़े चार साल से गायब स्टेनो रेखा नायर ने दो साल की लंबी छुट्टी पर चली गई हैैं। ईओडब्लू ने 23 जनवरी को नोटिस जारी कर अनुपातहीन संपत्ति का हिसाब मांगा था। रेखा ने नोटिस के जवाब में कहा है- उसने अपनी प्रापर्टी लोन से खरीदी है। हालांकि वह खुद सामने नहीं आई, उसने डाक के माध्यम से नोटिस का जवाब दिया। स्टेनों ने ईओडब्लू को भेजे जवाब में अपने परिवार के संबंध में बताया है कि उसके साथ माता-पिता रहते हैं, लेकिन वे उस पर आश्रित नहीं है। उनका अलग कारोबार है। वे अपना भरण-पोषण करने में सक्षम है। ईओडब्लू के अफसरों ने उसके जवाब के आधार पर कोई दूसरा नोटिस नहीं भेजा है। फिलहाल गुपचुप तरीके से उसकी प्रापर्टी की जांच चल रही है। रायपुर और आस-पास के अलावा उसकी केरल में बड़ी प्रापर्टी होने का पता चला है। अफसरों ने संकेत दिए हैं कि ईओडब्लू की एक टीम जल्द वहां भेजी जाएगी। अभी ये पता लगाया जा रहा है कि प्रापर्टी कहां है और किसके नाम से खरीदी गई है। इस बीच ये चर्चा फैली है कि रेखा नायर ने डीजी गुप्ता के कार्यकाल से संबंधित कुछ दस्तावेज और कंप्यूटर की हार्ड डिस्क और पेन ड्राइव ईओडब्लू के अफसरों को सौंपी है। हालांकि ईओडब्लू के एसपी और इस मामले की जांच कर रही टीम के चीफ दीपक झा का कहना है कि इस प्रकरण से जुड़े हर पहलुओं पर जांच की जा रही है।

X
Raipur News - chhattisgarh news 50 thousand reward for criminals in changaora chanda new investigation teams remained
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना