एनआरआई बताकर महिला से फेसबुक में दोस्ती की फिर झांसा देकर 15 लाख रु. ठगे

Raipur News - राजेंद्रनगर की एक 48 साल की महिला को जाल में फंसाकर ठगों ने उनसे 15 लाख से ज्यादा की ठगी कर ली। जालसाज ने करीब डेढ़ साल...

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 03:35 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news according to the nri the girl again made a friendship in facebook and then rs 15 lakh thug
राजेंद्रनगर की एक 48 साल की महिला को जाल में फंसाकर ठगों ने उनसे 15 लाख से ज्यादा की ठगी कर ली। जालसाज ने करीब डेढ़ साल पहले खुद को इंग्लैंड का नागरिक बताकर अपना नाम स्टेफन वॉट बताकर महिला से दोस्ती की। धीरे-धीरे उसने अपने प्रेमजाल में फंसाया और शादी का झांसा दिया। उसके बाद विदेश की नागरिकता लेने के नाम पर कागजी कार्रवाई के लिए महिला से एक साल में धीरे-धीरे कर 15 लाख ठग लिए। उसने महिला को झांसा दिया था कि वह अपने निजी विमान से उन्हें लेने आएगा। घर का सारा कैश और जेवर गायब होने के बाद उनके पति को शक हुआ। उन्होंने प|ी से पूछताछ की तब सच सामने आया। उसके बाद पति-प|ी ने थाने पहुंचकर ठगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस को उन्होंने जो पैसों के ट्रांजेक्शन का रिकार्ड दिया है, उसके मुताबिक पैसे एचडीएफसी, स्टेट बैंग, देना बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा के खातों में ट्रांसफर किए गए हैं। जालसाज इन्हीं बैंकों का अकाउंट नंबर उन्हें देता था। महिला को उस पर जरा भी शक नहीं हुआ और वे उसकी मांग पूरी करती रहीं। हर महीने कोई न कोई झांसा देकर वह उनसे पैसे मांगता रहा। उसने अपनी बातों में इस तरह से फंसा लिया था कि महिला को कभी शक नहीं हुआ। वह एक तरह से आंख मूंदकर पैसे बैंक में जमा करती रही। घर का कैश खत्म होने पर उन्होंने अपने जेवर बेचकर भी पैसे उसके अकाउंट में जमा कर दिए।







ठग ने कहा- शादी करने इंग्लैंड से अपने निजी विमान में लेने आएगा

22 साल का बेटा, पति प्राइवेट नौकरी में

पुलिस अफसरों ने बताया कि पीड़ित महिला का बेटा 22 साल का है। उनके पति प्राइवेट नौकरी में हैं। वे खुद गृहणी हैं। पिछले दो-तीन साल से वे फेसबुक हैं। जालसाज ने उन्हें रिक्वेस्ट भेजकर पहले दोस्ती की फिर धीरे-धीरे ऐसा अहसास दिलाया कि वह उनसे प्रेम करता है।

अपने आप को बताया बिजनेस मैन

खुद को इंग्लैंड का स्टेफन वॉट बताने वाले जालसाज ने महिला को अपना परिचय एक बिजनेस मैन के रूप में दिया था। वह उन्हें बताता था कि उसका बड़ा बिजनेस है, लेकिन जिंदगी में कोई नहीं। उसने एक बार तो ये तक कह दिया था कि वे उन्हें ब्याहने के लिए अपना निजी विमान लेकर आएगा।

दिल्ली रैकेट का दो माह पहले हुआ था खुलासा

राजधानी में इस तरह से जालसाजी का रैकेट दो महीने पहले फूटा था। पुलिस ने दिल्ली के गिरोहबाजों को पकड़ा था। गिरोह में शामिल लोगों की जिम्मेदारी अलग-अलग थी। फोन करने वाला अपने आप को विदेशी बताकर महिलाओं को जाल में फंसाकर उनसे पैसे वसूलता था। अब तक युवतियों से जितनी भी ठगी हुई है, उसमें एयरपोर्ट पर सामान छुड़ाने के नाम पर की गई है। विदेशी बनकर दोस्ती करने वाले जालसाज युवतियों और महिलाओं से कहते थे कि उन्होंने बड़ा गिफ्ट भेजा है।





वह कुरियर से पहुंच जाएगा। फोन पर बात होने के एक-दो दिन बाद एयरपोर्ट से कॉल आता था। इस बार फोन कोई महिला करती थी, जो कहती थी कि वह एयरपोर्ट के कस्टम विभाग से बोल रही है। वह बताती थी कि आपका विदेश से पार्सल आया है। उसके बाद अलग-अलग लोग फोन करते और सामान छुड़ाने के नाम पर युवतियों से लाखों रुपए ठग लेते थे। पूरी प्रक्रिया अलग-अलग दिनों में कुछ अंतराल से की जाती थी, ताकि युवतियों को शक न हो। पुलिस ने दिल्ली से ऑपरेट होने वाले रैकेट के सदस्यों को तो पकड़ा लेकिन मास्टर माइंड अब तक हाथ नहीं आया।

X
Raipur News - chhattisgarh news according to the nri the girl again made a friendship in facebook and then rs 15 lakh thug
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना