• Hindi News
  • Chhatisgarh
  • Raipur
  • News
  • Raipur News chhattisgarh news depreciation of tomato production ended dependence on nasik increased but inadequate arrivals in chhattisgarh on demand from adisha west bengal

टमाटर का स्थानीय उत्पादन समाप्ति की आेर, नासिक पर निर्भरता बढ़ी लेकिन आेडिशा-पश्चिम बंगाल से मांग निकलने पर छत्तीसगढ़ में कमजोर हुई आवक

Bhaskar News Network

May 17, 2019, 07:40 AM IST

Raipur News - पिछले एक-दो सप्ताह से टमाटर सहित अन्य सब्जियाें के भाव में तेजी का रुख जारी है। इस दौरान लगभग सभी सब्जियां 25 से 30...

Raipur News - chhattisgarh news depreciation of tomato production ended dependence on nasik increased but inadequate arrivals in chhattisgarh on demand from adisha west bengal
पिछले एक-दो सप्ताह से टमाटर सहित अन्य सब्जियाें के भाव में तेजी का रुख जारी है। इस दौरान लगभग सभी सब्जियां 25 से 30 फीसदी तक महंगी हो गई हैं। फरवरी में थोक मंडी में 10 से 12 आैर खुदरा बाजार में 15 से 20 रुपए प्रति क्विंटल बिकने वाला टमाटर अब दोगुना महंगा हो गया है।

श्रीराम थोक सब्जी विक्रेता समिति डूमरतराई के अध्यक्ष टी.श्रीनिवास रेड्‌डी ने बताया कि टमाटर की कीमतों में तेजी दो कारणों से है एक तो स्थानीय उत्पादन लगभग समाप्ति की आेर है। मंडी में सिर्फ 10 फीसदी आवक ही स्थानीय उत्पादन है बाकी 90 फीसदी निर्भरता नासिक पर है। कीमतों में तेजी का दूसरा कारण इस माह के पहले सप्ताह में आया फेनी तुफान है। इस तुफान के कारण आेडिशा आैर पश्चिम बंगाल में टमाटर की फसल प्रभावित हुई है। जिस वजह से इन दोनों राज्यों में टमाटर की मांग बढ़ गई है यहां भी नासिक से ही टमाटर की सप्लाई की जा रही है। यही कारण है कि छत्तीसगढ में पर्याप्त मात्रा में टमाटर की पूर्ति नहीं हो पा रही है जिससे यह महंगा होता जा रहा है। नासिक से सामान्य दिनों में 18 से 20 ट्रक टमाटर की आपूर्ति होती है लेकिन अभी 7 से 8 ट्रक ही सप्लाई की जा रही है। मंडी में हाईब्रिड टमाटर 600 आैर देशी टमाटर 800 रुपए प्रति कैरेट(25 किलोग्राम) के स्तर पर करोबार कर रहा है। थोक में हाइब्रिड 25 से 30 रुपए व देशी 30 से 35 रुपए प्रति किलोग्राम आैर खुदरा बाजार में 40 रुपए प्रति किलोग्राम से अधिक बिक रहा है। जब तक आवक में वृद्धि नहीं होती तब तक टमाटर की कीमतों नरमी की कोई गुंजाइश नहीं है। यही हाल बैंगन, फूलगोभी, पत्तागोभी, परवल, करेला आैर भिंडी सहित अन्य सब्जियों का है जो काफी महंगी बिक रही है। बाजार में आलू आैर प्याज के भाव में ही स्थिरता बनीं हुई है। आलू थोक में 10 से 12 रुपए अाैर खुदरा में 20 रुपए प्रति किलो तक बिक रहा है। इसी तरह प्याज भी लंबे समय से थोक में 8-11 रुपए आैर खुदरा बाजार में 20 रुपए प्रति किलोग्राम पर स्थिरत है। इनकी आवक पर्याप्त है इसलिए कीमतों में किसी तरह की तेजी की संभावना नहीं है।

सब्जी

फूलगोभी

हरी मिर्च

भिंडी

धनिया

करेला

लौकी

कुंदरु

परवल

टिंडा

कीमत रुपए/प्रति किलोग्राम में

बिजनेस रिपोर्टर | रायपुर

पिछले एक-दो सप्ताह से टमाटर सहित अन्य सब्जियाें के भाव में तेजी का रुख जारी है। इस दौरान लगभग सभी सब्जियां 25 से 30 फीसदी तक महंगी हो गई हैं। फरवरी में थोक मंडी में 10 से 12 आैर खुदरा बाजार में 15 से 20 रुपए प्रति क्विंटल बिकने वाला टमाटर अब दोगुना महंगा हो गया है।

श्रीराम थोक सब्जी विक्रेता समिति डूमरतराई के अध्यक्ष टी.श्रीनिवास रेड्‌डी ने बताया कि टमाटर की कीमतों में तेजी दो कारणों से है एक तो स्थानीय उत्पादन लगभग समाप्ति की आेर है। मंडी में सिर्फ 10 फीसदी आवक ही स्थानीय उत्पादन है बाकी 90 फीसदी निर्भरता नासिक पर है। कीमतों में तेजी का दूसरा कारण इस माह के पहले सप्ताह में आया फेनी तुफान है। इस तुफान के कारण आेडिशा आैर पश्चिम बंगाल में टमाटर की फसल प्रभावित हुई है। जिस वजह से इन दोनों राज्यों में टमाटर की मांग बढ़ गई है यहां भी नासिक से ही टमाटर की सप्लाई की जा रही है। यही कारण है कि छत्तीसगढ में पर्याप्त मात्रा में टमाटर की पूर्ति नहीं हो पा रही है जिससे यह महंगा होता जा रहा है। नासिक से सामान्य दिनों में 18 से 20 ट्रक टमाटर की आपूर्ति होती है लेकिन अभी 7 से 8 ट्रक ही सप्लाई की जा रही है। मंडी में हाईब्रिड टमाटर 600 आैर देशी टमाटर 800 रुपए प्रति कैरेट(25 किलोग्राम) के स्तर पर करोबार कर रहा है। थोक में हाइब्रिड 25 से 30 रुपए व देशी 30 से 35 रुपए प्रति किलोग्राम आैर खुदरा बाजार में 40 रुपए प्रति किलोग्राम से अधिक बिक रहा है। जब तक आवक में वृद्धि नहीं होती तब तक टमाटर की कीमतों नरमी की कोई गुंजाइश नहीं है। यही हाल बैंगन, फूलगोभी, पत्तागोभी, परवल, करेला आैर भिंडी सहित अन्य सब्जियों का है जो काफी महंगी बिक रही है। बाजार में आलू आैर प्याज के भाव में ही स्थिरता बनीं हुई है। आलू थोक में 10 से 12 रुपए अाैर खुदरा में 20 रुपए प्रति किलो तक बिक रहा है। इसी तरह प्याज भी लंबे समय से थोक में 8-11 रुपए आैर खुदरा बाजार में 20 रुपए प्रति किलोग्राम पर स्थिरत है। इनकी आवक पर्याप्त है इसलिए कीमतों में किसी तरह की तेजी की संभावना नहीं है।

थोक भाव

20

50-60

15-20

70-80

30

14

12-14

20

30

खुदरा भाव

40-50

80-100

30-40

100

40

20

20

30-40

40

X
Raipur News - chhattisgarh news depreciation of tomato production ended dependence on nasik increased but inadequate arrivals in chhattisgarh on demand from adisha west bengal
COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543