डीकेएस में बिना बजट 55 हजार में डॉक्टर्स की भर्ती, खाते में 40 हजार ही जमा हो रहा वेतन

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:31 AM IST

Raipur News - डीबी स्टार

Raipur News - chhattisgarh news dks recruitment of doctors in 55 thousand without budget 40 thousand deposits in the account
डीबी स्टार
डीबी स्टार टीम को जानकारी मिली कि डीकेएस में डॉक्टर्स की तनख्वाह बांटने को लेकर गड़बड़ी हो रही है। इस मामले की पड़ताल की गई तो खुलासा हुआ कि अस्पताल में 80 डॉक्टर्स का सेटअप हैं, लेकिन यहां पर सिर्फ 30 डॉक्टर्स की भर्ती की गई। वहीं 55-55 हजार रुपए देने का ऑफर डॉक्टर्स को किया गया, लेकिन खाते में सिर्फ 40 हजार रुपए ही मिल रहा है। इसमें भी दो हजार रुपए टीडीएस की राशि काटी जा रही है। दरअसल, डॉक्टर्स को कम सैलरी इसलिए मिल रही है, क्योंकि पहले बजट अस्पताल को उतना नहीं मिला था फिर भी डॉक्टर्स की भर्ती उस ऑफर लेटर के तहत कर दी, जितना अस्पताल प्रबंधन डॉक्टर्स को सैलरी ही नहीं दे सकता था। इसके अलावा पिछले 8 माह से बजट नहीं होने की वजह से वेतन काटा जा रहा है।

जानिए, ऑफर की गई सैलरी क्यों नहीं मिल रही

ऐसे फिक्स किया गया वेतन

डॉक्टर्स को समेकित वेतन के तौर पर 40 हजार रुपए फिक्स किए गए। वहीं गृह भाड़ा 5 हजार रुपए निर्धारित किया गया। साथ ही अतिरिक्त भत्ता 10 हजार रुपए यानि सुपरस्पेशलिटी अस्पताल के होने के नाते तय किया गया।

इसलिए नहीं बांट रहे पूरा वेतन

सिर्फ समेकित वेतन भी डॉक्टर्स के खाते में भेजा जा रहा है। गृह भाड़ा और अतिरिक्त भत्ता नहीं मिलने की वजह यह बताई जा रही है कि अस्पताल को बजट ही नहीं मिला है, जबकि यहां आठ महीने से ऐसा हो रहा है।

एेसे समझें, डॉक्टर्स को किस तरह की हो रही परेशानियां

बाहर से आए डॉक्टर्स को यहां रहने में परेशानियां हो रही हैं। क्याेंकि जिस हिसाब से रहने और खाने का भत्ता मिलने के अलावा अस्पताल का भत्ता दिया जाना था, वह नहीं दिया जा रहा है। वहीं 40 हजार के समेकित भत्ते में से भी दो हजार टीडीएस कटता है।

समय-सीमा में खाते में नहीं आ रही सैलरी

डॉक्टर्स को सैलरी देने के लिए चार महीने पहले ही अकाउंट खोला गया, लेकिन सैलरी समय से नहीं मिल रही है। एचआर सिस्टम स्ट्रांग नहीं होने की वजह से ऐसा हो रहा है। जबकि नर्सिंग स्टाफ को समय से सैलरी मिल रही है।

80 की जगह 30 डॉक्टर ही कर रहे मरीजों का इलाज

अस्पताल में टोटल 80 डॉटर्स का सेटअप है। जबकि अस्पताल में अभी 30 से कम डॉक्टर्स अपनी सेवाएं दे रहे है। सैलरी समय से नहीं मिलने की वजह से एक-एक कर डॉक्टर्स रिजाइन कर रहे हैं। डॉक्टर्स इस आस में थे कि देर सवेर उनकी सैलरी मिल ही जाएगी। इसके चलते वे अपनी सेवाएं अस्पताल में देते रहे है, वहीं महीनों बाद भी सैलरी नहीं मिलने की वजह से डॉक्टर्स रिजाइन देने को मजबूर हो चुके हैं।

सीधीबात


कुछ डॉक्टर्स ने हाउस रेंट बिल एंट्री नहीं करवाया इसलिए वेतन में कटौती की गई है।


हां, इसके लिए शासन से अनुमति नहीं मिली थी, अभी मिली है। अब प्रोसेस करेंगे। दो हजार रुपए भी काटे जा रहे हैं, वह टीडीएस का है।


हां बिलकुल, जितना भत्ता नहीं मिला उतना दिया जाएगा। रिकॉर्ड देखकर वापस करेंगे।

केके सहारे, अधीक्षक, डीकेएस अस्पताल

X
Raipur News - chhattisgarh news dks recruitment of doctors in 55 thousand without budget 40 thousand deposits in the account
COMMENT