पहले खुद किया देहदान का फैसला, अबतक 30 लोगों का करवा चुके हैं शरीर दान

Raipur News - ये कहानी है शंकर नगर में रहने वाली अन्नू टंडन की। किडनी की बीमारी से ग्रसित पति के मौत के बाद अन्नू आश्रम में भूखे...

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 02:46 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news firstly the decision of her own body has been done so far 30 people have donated body donation
ये कहानी है शंकर नगर में रहने वाली अन्नू टंडन की। किडनी की बीमारी से ग्रसित पति के मौत के बाद अन्नू आश्रम में भूखे बच्चों को खाना खिलाती थी। साथ ही साथ कुछ समय बाद उन्होंने सोचा कि जिस वजह से पति की मौत हुई, ऐसा किसी के साथ न हो। इसके लिए उन्होंने पहले खुद ही देहदान करने का फैसला लिया। फिर इसके लिए उन्होनें अपने आसपास के लाेगों को भी देहदान करने के लिए प्रेरित किया। शरीर के सभी अंगों को मृृत्यु के बाद उन जरुरतमंद लोगों को दान किया जाएगा, जो कि गंभीर बीमारियों से ग्रसित और आर्थिक रुप से कमजाेर है।

एचआईवी पॉजीटिव बच्चों को भोजन

अन्नू टंडन के ग्रुप से जुड़े सदस्य एचआईवी पीड़ित बच्चों को खाना खिलाते है। यह सामान्य खाना नहीं होता, इसमें वे सभी पौष्टिक तत्व रहते है जो कि इन बच्चों के सेहत के लिए फायदेमंद है। इसके लिए ग्रुप के सदस्य आपस में पैसे कलेक्ट करते है और हर हफ्ते ऐसे कार्यक्रम का आयोजन करते है।

सैकड़ों लोग जुड़ रहे

मौत के बाद अंग नष्ट होने के बजाय इसका उपयोग किया जा सके, जिसके चलते लोगों को नई जिंदगी मिले। इस उद्देश्य के साथ इस अभियान काे शुरू किया गया, जिसमें तीन साल में 30 लोगों को देहदान के लिए प्रेरित किया गया।

अंग दूसरों के काम आ सकते हैं तो नष्ट क्यों करें


अभियान चला रहे

देहदान की इस प्रथा को निरंतर जारी रखने के लिए अन्नू ने लोगों को प्रेरित तो किया ही, साथ ही साथ इसे एक अभियान के रूप में चलाने का संदेश भी समाज में दिया है। देहदान के लिए प्रेरित 30 लोगों को आगे और भी लोगों को प्रेरित करने कहा है।

X
Raipur News - chhattisgarh news firstly the decision of her own body has been done so far 30 people have donated body donation
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना