विभागीय जांच इंटेंशन पता लगाने के लिए: शुक्ला

Raipur News - रायपुर| पावर कंपनी के चेयरमैन शैलेंद्र शुक्ला ने कहा कि विभागीय जांच का उद्देश्य किए गए कार्य के प्रति आरोपित...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:25 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news for detecting departmental investigation intentions shukla
रायपुर| पावर कंपनी के चेयरमैन शैलेंद्र शुक्ला ने कहा कि विभागीय जांच का उद्देश्य किए गए कार्य के प्रति आरोपित व्यक्ति का इंटेंशन पता लगाना होता है। कोई कार्य अच्छी नियत से भी की जा सकती है और बुरी नियत से भी। वे विभागीय जांच पर आयोजित कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे।





कार्यशाला डंगनिया पावर कंपनी मुख्यालय में रखी गई। इसमें प्रदेशभर के 50 से अधिक अधीक्षण अभियंता, मुख्य अभियंता स्तर तक के अधिकारी शामिल हुए। कार्यशाला में पावर कंपनीज के अध्यक्ष शैलेंद्र षुक्ला ने कहा कि विभागीय जांच एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया है। इसका उद्देश्य प्रकरण की स्पष्ट जांच कर न्याय दिलाना है। विभागीय जांच के समय आरोपी के किये गये कार्यों के पीछे कुनियति अथवा नेक नियति देखना नैसर्गिक न्याय की दृष्ट से उचित होगा। शासकीय सेवकों की सेवायात्रा में सतत सुधार की दृष्टि से प्रशिक्षण कार्यक्रम की विशेष महत्ता है। इस अवसर पर ट्रांसमिशन कंपनी की एमडी तृप्ति सिन्हा, पाॅवर होल्डिंग कंपनी के डायरेक्टर अजय दुबे, कार्यशाला के प्रमुख वक्ता पाॅवर कंपनीज के कार्यपालक निदेशक आनंद कुमार तिवारी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे। कार्यशाला में डायरेक्टर अजय दुबे ने संस्थान में अनुशासन बनाये रखने तथा नियमों के पालन के लिए विभागीय जांच को जरूरी बताया। कार्यशाला में शामिल प्रतिभागियों को रिटायर्ड आईपीएस पाॅवर कंपनी कार्यपालक निदेशक (डिपार्टमेंटल इंक्वायरी) आनंद तिवारी ने विभागीय जांच की आवश्यकता, नियमावली, नैसर्गिक न्याय, विभागीय जांच के दस्तावेजों का रखरखाव, इंक्वायरी एंड प्रजेन्टिंग आफिसर की भूमिका, आरोपित अधिकारी-कर्मचारी को अपना पक्ष रखने का समुचित अवसर प्रदान करना, विभागीय जांच उपरान्त दोषी कर्मी को दिये जाने वाले दण्ड, पुनर्विचार याचिका की अपील, ज्वाइंट डिपार्टमेन्टल इंक्वायरी जैसे विषयों की जानकारी दी गई।

कार्यक्रम के आरंभ में पाॅवर होल्डिंग कंपनी के महाप्रबंधक (मानव संसाधन) एच.के. पाण्डेय ने बताया कि किसी भी संस्थान में विधिसम्मत कार्यों का निष्पादन उस संस्था में सेवारत अधिकारियों-कर्मचारियों के साथ ही संस्था के लिए हितकारी होता है। शासकीय सेवा में सेवाशर्तों के साथ विविध नियमावली निर्धारित किये जाते हैं। इनका समुचित ज्ञान नहीं होने के कारण जाने-अनजानें में त्रुटियां हो जाती है। ऐसी त्रुटियों के निराकरण, निष्पक्षतापूर्वक विभागीय जांच हेतु विभागीय जांच विषयक कार्यशाला का आयोजन किया गया है। कार्यक्रम का संचालन अतिरिक्त महाप्रबंधक (जनसम्पर्क) विजय मिश्रा ने किया। कार्यक्रम के प्रारंभ में अतिथियों का स्वागत पाॅवर कंपनी के अधिकारी एच.के.पाण्डेय, हर्ष गौतम, एके श्रीवास्तव एवं सुनील मेहता द्वारा किया गया।

X
Raipur News - chhattisgarh news for detecting departmental investigation intentions shukla
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना