वन में पक्की सड़क नहीं होती तो जंगल सफारी में क्यों... कंक्रीट रोड बनाने के सारे टेंडर निरस्त

Raipur News - जंगल सफारी में वन्य प्राणियों के बाड़े के भीतर सीसी रोड नहीं बनायी जाएगी। बाड़े के भीतर जंगलों की तरह कच्ची सड़क...

Bhaskar News Network

Mar 16, 2019, 03:06 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news if there is no paved road in forest why in the jungle safari all the tenders for making concrete road are canceled
जंगल सफारी में वन्य प्राणियों के बाड़े के भीतर सीसी रोड नहीं बनायी जाएगी। बाड़े के भीतर जंगलों की तरह कच्ची सड़क रहेगी, ताकि सफारी में सैर करने जाने वालों को बाड़े के भीतर जंगल जैसा अहसास हो। वन विभाग ने सड़क बनाने के पुराने सारे टेंडर निरस्त कर दिए हैं। पिछली सरकार ने वन्य प्राणियों के बाड़े के भीतर सीसी रोड बनाने का फैसला किया था। इसके लिए टेंडर भी तय हो चुके थे। वर्क आर्डर के साथ बाकी कागजी काम भी चुके थे।

वन विभाग के अफसरों ने बताया कि सारे टेंडर निरस्त करने का आदेश खुद वनमंत्री मोहम्मद अकबर ने दिया है। सरकार के इस फैसले के बाद अब ये तय हो गया कि वन्य प्राणियों के बाड़े के भीतर अभी तरह की कच्ची सड़क ही रहेगी। इसमें किसी तरह से बदलाव नहीं किया जाएगा, जबकि पिछली सरकार ने वन्य प्राणियों के बाड़े में वाहनों के आने-जाने के समय उड़ने वाली धूल का हवाला देकर सीसी रोड बनाने का निर्णय लिया था। उसी आधार पर विधानसभा चुनाव के पहले टेंडर निकाला गया था। आचार संहिता लगने के पहले ही टेंडर तय कर वर्क आर्डर जारी कियास गया। नई सरकार ने पूरी संरचना ही बिगड़ने का हवाला देकर इन सड़कों के टेंडर निरस्त किए हैं।

थोड़ी-बहुत हैं कंक्रीट रोड

सफारी में वन्य प्राणियों के बाहर भी कुछ हिस्से में ही कंक्रीट (सीसी) रोड है। जहां सीसी रोड है, बस उतने ही हिस्से में रोड रहेगी। बाहरी हिस्से में भी सीसी रोड नहीं बनायी जाएगी। इसके लिए वन विभाग की ओर से स्पष्ट निर्देश जारी कर दिए गए हैं। विभाग का मानना है के सफारी के भीतर का लुक पूरी तरह से नैचुरल रहना चाहिए। सड़क और बाकी सुविधाएं उपलब्ध कराने से सफारी के भीतर जंगल जैसा अहसास नहीं होगा।

X
Raipur News - chhattisgarh news if there is no paved road in forest why in the jungle safari all the tenders for making concrete road are canceled
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना