दसवीं और बारहवीं में बाेनस अंक अब महायोग में नहीं जुड़ेंगे, इनका असर नतीजों पर भी नहीं

Raipur News - दसवीं-बारहवीं बोर्ड में दिए जाने वाले बोनस अंक का सिस्टम बदलेगा। खिलाड़ी, स्काउट गाइड, एनसीसी समेत अन्य से जुड़े...

Bhaskar News Network

May 17, 2019, 07:36 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news in the 10th and the twelfth the bains issue will not be associated with mahayog nor its impact on the results
दसवीं-बारहवीं बोर्ड में दिए जाने वाले बोनस अंक का सिस्टम बदलेगा। खिलाड़ी, स्काउट गाइड, एनसीसी समेत अन्य से जुड़े छात्रों को बोनस अंक मिलेंगे, लेकिन इसका फायदा वे बोर्ड परीक्षा में नहीं उठा पाएंगे क्योंकि बोनस में मिले नंबर महायोग में नहीं जोड़े जाएंगे। अन्य विषयों में मिले नंबरों के आधार पर छात्रों का रिजल्ट तैयार होगा। बोनस अंक का रिजल्ट पर कोई असर नहीं पड़ेगा। बोनस अंकों से किसी छात्र का रिजल्ट सुधर नहीं सकेगा। नए सत्र से बोनस अंक के नियमों में बदलाव होगा। माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) ने इसकी तैयारी कर ली है। अफसरों का कहना है कि बोनस में मिलने वाले अंक महायोग में नहीं जोड़े जाएंगे। इससे पहले, इस साल दसवीं-बारहवीं में 3360 छात्रों को बोनस अंक मिला था। इसकी वजह से कई छात्र फेल से पास हुए। कुछ ऐसे भी छात्र थे जिन्होंने बोनस अंक की वजह से टॉप-10 में जगह बनाई। बोर्ड परीक्षाओं में बोनस अंक देने का प्रावधान करीब पांच साल पहले लागू किया गया था। इसके तहत खेल, एनसीसी, एनएसएस, स्काउट समेत अन्य से जुड़े छात्रों को बोनस के रूप में 10 से लेकिन 20 अंक दिए जाने का प्रावधान है। इस बार भी छात्रों को इसका फायदा मिला।

रीवैल के लिए 25 तक अर्जी

दसवीं-बारहवीं बाेर्ड परीक्षा के नतीजे जारी होने के बाद अभी पुनर्मूल्यांकन व पुनर्गणना के लिए आवेदन की प्रक्रिया चल रही है। इसके तहत 25 मई तक आवेदन स्वीकार किए जाएंगे। इस बार ऑफलाइन के साथ-साथ ऑनलाइन आवेदन की सुविधा भी दी गई है। माशिमं के अफसरों का कहना है कि राज्यभर में करीब 189 अग्रेषण केंद्र बनाए गए हैं। छात्र वहां से ऑफलाइन भी आवेदन कर सकते हैं।

अंकसूची में अलग से रहेंगे

बोर्ड अफसरों के मुताबिक दसवीं-बारहवीं के बोनस नंबर महायोग में जोड़ने के प्रावधान खत्म किए जा रहे हैं। ये बोर्ड परीक्षा की अंकसूची में अलग से दर्शाए जाएंगे। छात्र इसका फायदा दाखिला या अन्य के संबंध में ले सकते हैं, क्योंकि कई कॉलेजों में विभिन्न गतिविधियों के नाम पर बोनस अंक देने की व्यवस्था है। अंकसूची में इसका उल्लेख होने पर कॉलेजों को भी ज्यादा समस्या नहीं होगी।

ओपन स्कूल के नतीजे माह के अंत में

दसवीं-बारहवीं ओपन स्कूल परीक्षा के नतीजे इस माह के अंत में जारी होंगे। छत्तीसगढ़ राज्य ओपन स्कूल इसकी तैयारियों में है। अफसरों ने कहा कि मूल्यांकन का काम अंतिम दौर में है। इसके बाद रिजल्ट तैयार करने की प्रक्रिया शुरू होगी। संभावना है कि महीने के आखिरी सप्ताह में दसवीं-बारहवीं दोनों के नतीजे जारी किए जाएंगे।

दस से लेकर 20 नंबर तक मिलते है

बोनस अंक के तहत छात्रों को 10 से लेकर 20 अंक तक दिए जाते हैं। इसके लिए कुछ छह कैटेगरी है। खेल, स्काउट गाइड, एनसीसी, एनएसएस, विद्याभारती और खेल एवं युवा कल्याण के तहत छात्रों के बीच यह अंक बांटे जाते हैं। इस बार खेल की श्रेणी में सबसे अधिक बोनस अंक बाटा गया। इनकी संख्या करीब 2200 थी। स्काउट गाइड के तहत करीब 900 छात्रों को बोनस अंक दिया गया।

अन्य कैटेगरी में कुछ ही छात्रों को इसका फायदा मिला। माशिमं के अफसरों का कहना है कि बोनस अंक के लिए लोक शिक्षण संचालनालय से लिस्ट मंगाई जाती है। उसके अनुसार ही बोनस अंक बांटे गए।

X
Raipur News - chhattisgarh news in the 10th and the twelfth the bains issue will not be associated with mahayog nor its impact on the results
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना