बारिश में राहर दाल सस्ती हुई तो जवा फूल चावल के रेट बढ़ गए

Raipur News - प्रशासनिक रिपोर्टर | रायपुर. राजधानी में लोगों को रहर दाल खरीदने में आसानी हो रही है तो चावल और आटे की वजह से राशन...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:25 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news in the rain if the rahal pulses became cheaper the rates of barley flower rice increased
प्रशासनिक रिपोर्टर | रायपुर.

राजधानी में लोगों को रहर दाल खरीदने में आसानी हो रही है तो चावल और आटे की वजह से राशन का खर्चा बढ़ रहा है। दाल बाजार में मंदी की वजह से रहर दाल की कीमत कुछ दिन पहले ही 10 रुपए टूट गई। बाजार में रहर दाल 80 रुपए किलो में मिल रही है जो पिछले महीने 90 से 95 रुपए में बिक रही थी। इस तरह मूंग दाल की कीमत भी पांच रुपए कम हो गई है। दाल कारोबारियों का कहना है कि अभी दालों का उठाव डिमांड के अनुसार नहीं हो रहा है। व्यापारियों के पास पर्याप्त स्टॉक है इसलिए दालों की कीमत कम हो गई है।

रहर दाल से भले ही लोगों को राहत मिल गई हो लेकिन गेहूं की सप्लाई अटकने की वजह से आटा महंगा हो रहा है। ब्रांडेड कंपनियों ने अपने आटे के दाम 15 से 20 रुपए तक बढ़ा दिए हैं। पांच किलो के आटे की बोरी की कीमत 155 से बढ़कर 165 और 175 रुपए तक हो गई है। खुले में भी लोगों का अच्छा गेहूं 30 से 32 रुपए किलो में ही मिल रहा है। इसी तरह जवा फूल चावल की कीमत में भी तेजी आई है। 60 रुपए किलो में बिकने वाला जवा फूल अभी बाजार में 70 से 75 रुपए तक बिक रहा है। कारोबारियों का कहना है कि जिले में जवा फूल का उत्पादन नहीं होता है। इसे दूसरे जिलों से मंगाया जाता है। अभी ट्रांसपोर्ट और दूसरी चीजों का खर्चा बढ़ने की वजह से चावल की कीमत भी बढ़ा दी गई है। दाल मिल एसोसिएशन के गोपाल अग्रवाल का कहना है कि जुलाई में स्कूल खुलने और दूसरे कई काम होने की वजह से लोगों का ज्यादा खर्चा इन्हीं में होता है। इसलिए बाजार में डिमांड कम हो जाती है। रहर दाल समेत कई तरह के दालों की कीमत में कमी आई है। अभी बाजार में तेजी नहीं है। इसलिए कीमतें भी स्थिर रहेंगी। दालों की पर्याप्त सप्लाई होने की वजह से व्यापारियों के पास इसका पूरा स्टॉक है। इससे बाजार में दाल की कमी भी नहीं हो रही है।

सब्जियों के दाम भी बढ़ने लगे

बारिश में सब्जियों के दाम भी बढ़ने लगे हैं। चिल्हर बाजार में धनिया 200 रुपए किलो तक बिक रहा है। इसी तरह टमाटर की कीमत भी बढ़ गई है। सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि सप्लाई कम होने की वजह से सब्जियों की कीमत बढ़ रही है। जैसे-जैसे गाड़ियां आएंगी सब्जियों की कीमत कम होती जाएंगी।

X
Raipur News - chhattisgarh news in the rain if the rahal pulses became cheaper the rates of barley flower rice increased
COMMENT