रिटर्न में कम अाय दिखाई पर बैंकों में बड़ा लेनदेन 12 हजार को अाईटी नोटिस, इनमें शहर से 7 हजार

Raipur News - प्रशासनिक रिपोर्टर | रायपुर आयकर विभाग को इस साल तय लक्ष्य से कम कमाई की वजह से इस साल अप्रैल से ही सख्ती शुरू कर...

Bhaskar News Network

Apr 16, 2019, 07:26 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news less noticeable in returns banks have a big deal of 12 thousand transactions in which 7 thousand people from the city
प्रशासनिक रिपोर्टर | रायपुर

आयकर विभाग को इस साल तय लक्ष्य से कम कमाई की वजह से इस साल अप्रैल से ही सख्ती शुरू कर दी है। ऐसे 12 हजार कारोबारियों की सूची तैयार की गई है, जिन्होंने रिटर्न में अामदनी कम बताई लेकिन बैंकों में उनके बड़े लेन-देन हैं। सिर्फ राजधानी में ऐसे तकरीबन 7 हजार कारोबारी हैं। इन सभी को अायकर की ओर से ई-मेल और डाक से भेजे नोटिस मिलने शुरू हो गए हैं कि अापके रिटर्न में दिखाई गई इनकम और बैंक स्टेटमेंट में बड़ा फर्क क्यों है, इसका जवाब चाहिए। नोटिस ऐसे लोगों को भी दी गई है जिन्होंने तय तारीख में रिटर्न नहीं दिया। नोटिसों से राजधानी के कारोबार जगत में खलबली मच गई है। सैकड़ों कारोबारी जवाब तैयार करने के लिए सीए दफ्तरों की दौड़ लगा रहे हैं।

अायकर विभाग इस साल राजधानी-प्रदेश में अायकर की वसूली में बहुत कामयाब नहीं हो पाया है। यह बात अलग है कि विभाग ने इसके लिए पिछले वित्तीय वर्ष में सालभर व्यापक अभियान चलाया। सभी व्यापारिक संगठनों से बात की गई और टैक्स भरने के लिए कहा गया। कई तरह के कार्यक्रमों के बावजूद विभाग की राजस्व वसूली पिछड़ गई। इसके बाद ही ऐसे लोगों की सूची तैयार होने लगी जिन्होंने पिछले साल तो रिटर्न भरा लेकिन इस साल नहीं भरा या कम भरा। इस वजह से ऐसे लोगों की सूची तैयार कर उन्हें नोटिस भेजी जा रही है। जिन लोगों को नोटिस दी जा रही है, उनसे सात से 15 दिनों में इसका जवाब देने को कहा गया है।

आउटर पर खास नजर

आयकर विभाग इस बार राजधानी के साथ आउटर के संस्थानों में विशेष फोकस कर रहा है। विभाग को इस बात की जानकारी मिली है छोटी-छोटी जगह जैसे अभनपुर, तिल्दा, राजिम, गोबरा-नवापारा, नगरी, महासमुंद, धमतरी समेत कई जगह कारोबार बड़ा है। बाहर से छोटी दिखने वाली दुकानों में करोड़ों का कारोबार हो रहा है। ऐसे सभी संस्थानों को रिटर्न पर खास नजर रखी जा रही है। घोषित कमाई में अंतर दिखने पर सभी जगह सर्वे की तैयारी कर ली गई है।

जानकारियां जुटा रहा विभाग

आयकर विभाग के अफसर इस बात की भी जानकारी जुटा रहे हैं जिन्होंने बड़े वित्तीय लेन-देन किए हैं। ऐसे लोगों के बारे में पता किया जा रहा है कि उनके पास जो इंकम है वो स्थायी है या विकल्प के तौर पर कहीं से ली गई है। जिन लोगों से रुपए की प्राप्ति हुई है वे रिटर्न दाखिल करते हैं या नहीं? या ऐसे लोगों के पास केवल पैन कार्ड है और उसी के आधार पर बड़ा लेन-देन किया गया है। जिन लोगों को बड़ी रकम की प्राप्ति हुई है वो टैक्स फ्री है? या ऐसे संसाधनों या स्त्रोत से मिली है जिस पर टैक्स नहीं लगता है।

सीए से बनवा रहे जवाब

अभी शहर के सीए के पास ऐसे लोगों की भीड़ बढ़ रही है, जिन्हें नोटिस मिल रहे हैं। अधिकतर लोग टैक्स विशेषज्ञों से ही जवाब तैयार करवा रहे हैं। सीए ऐसे सभी लोगों को सलाह दे रहे हैं कि वे जो भी जानकारी दें संभलकर और विस्तार से दें। उन्हें अपने सभी पुराने रिकार्डो की सही जानकारी होनी चाहिए। जिन्हें नोटिस मिला है उनके जवाब से आयकर अधिकारी संतुष्ट नहीं होते है, तो फिर से सवाल-जवाब किए जा सकते हैं। जानकारियों की पुष्टि नहीं होती है तो विभाग ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करेगा।

X
Raipur News - chhattisgarh news less noticeable in returns banks have a big deal of 12 thousand transactions in which 7 thousand people from the city
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना