मिड डे मील में अंडा बांटें या नहीं मंत्रियों के साथ आज होगी बैठक

Raipur News - रायपुर | मध्यान्ह भोजन में अंडा बांटे जाने को लेकर राजनीति तेज हो गई है। कई इसके विरोध में खड़े हो गए हैं तो कुछ इसके...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:25 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news meet the eggs in mid day meal or not with ministers today
रायपुर | मध्यान्ह भोजन में अंडा बांटे जाने को लेकर राजनीति तेज हो गई है। कई इसके विरोध में खड़े हो गए हैं तो कुछ इसके समर्थन में हैं। कबीरपंथ समुदाय की चेतावनी के बाद भी सरकार इसे लेकर गंभीर है। अंडा बांटे या नहीं इस संबंध में निर्णय लेने के लिए आज गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम आैर महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेड़िया आैर समाज के पदाधिकारियों के साथ बैठक होगी। दरअसल कवर्धा में कबीरपंथ के अनुयायियों ने रैली निकालकर अंडा देने का विरोध किया है। उनका कहना है कि शाकाहारी बच्चों को अंडा परोसने से परेशानी होगी।





इस मामले में सरकार से जुड़े अफसरों का तर्क है कि बच्चों में कुपोषण को देखते हुए अंडा खिलाने का निर्णय लिया गया है। अंडा खाना स्वैच्छिक है आैर शाकाहारी बच्चों को अंडा नहीं दिया जाएगा। वहीं इधर विधानसभा में एक दिन पहले ही प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम के नेतृत्व में कांग्रेस विधायकों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से से मुलाकात की। वहीं मुख्यमंत्री को कांग्रेस विधायकों ने पत्र लिखकर स्कूलों में संचालित मध्यान्ह भोजन में अंडा उपलब्ध कराने की योजना की प्रशंसा की है।



विधायकों ने कहा कि छत्तीसगढ़ के बच्चों में कुपोषण को देखते हुए मध्यान्ह भोजन में प्रोटीन जैसे तत्व आवश्यक आहार में भरपूर मात्रा में शामिल करना आवश्यक है। विधायकों ने अपने पत्र में मुख्यमंत्री से बच्चों को मध्यान्ह भोजन में सप्ताह में तीन दिन अंडा उपलब्ध कराने का आग्रह किया और कहा कि इससे जहां छत्तीसगढ़ के बच्चों में व्याप्त कुपोषण को दूर करने स्वस्थ बनाने में मदद मिलेगी, वहीं स्वस्थ छत्तीसगढ़ का निर्माण भी किया जा सकेगा।

जैन समाज विरोध में

अब जैन समाज ने भी मध्यान्ह भोजन में अंडा परोसने के फैसले का विरोध किया है। भारत वर्षीय दिगंबर जैन महासभा के प्रदेश अध्यक्ष गजेंद्र जैन ने कहा कि छत्तीसगढ़ में सभी एक-दूसरे के धर्म-समुदाय का सम्मान करते हैं। आंगनबाड़ी केंद्रों में सभी वर्ग के बच्चे पढ़ने जाते हैं। ऐसे में सरकार द्वारा यहां अंडा परोसना गलत है।







मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से समाज मांग करता है कि वे अनायास ही अबोध छोटे बच्चों को अंडा के रूप में मांसाहार सेवन करने से बचाने में अपनी भूमिका निभाएं।

X
Raipur News - chhattisgarh news meet the eggs in mid day meal or not with ministers today
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना