सामाजिक संगठन पर्व-जयंती पर लगा रहे शिविर हर साल 1 हजार से ज्यादा मरीजों की बचा रहे जान

Raipur News - कम्युनिटी रिपोर्टर | रायपुर शहर में हर जाति, धर्म और संप्रदाय के लोग रहते हैं। जो समाज को शिक्षा, स्वास्थ्य और...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:30 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news more than 1 thousand patients saved every year camping at social organization festivals
कम्युनिटी रिपोर्टर | रायपुर

शहर में हर जाति, धर्म और संप्रदाय के लोग रहते हैं। जो समाज को शिक्षा, स्वास्थ्य और पारिवारिक जिम्मेदारी निभाने में हर संभव सहयोग दे रहे हैं। अब वे दूसरे समाज के लोगों की मदद के लिए भी आगे बढ़कर सरोकार को बल दे रहे है। समाज के लोग दुर्घटना, बीमारी के चलते होने वाले आपरेशन के दौरान ब्लड की कमी को भी पूरा करने में मददगार बन रहे है। ऐसे लोगों की सेवा की जिम्मेदारी विभिन्न समाज के लोग रक्तदाता बनकर निभा रहे है। संचार साधनों से मिलने वाली सूचना पर वे मरीज के परिजनों तक पहुंचकर रक्तदान करके हर साल 1 हजार से ज्यादा लोगों की जान बचा रहे हैं।

राजधानी में विभिन्न समाज के लोग अब विशेष पर्व और जयंती के अवसर पर रक्तदान की परंपरा से जुड़ रहे हैं। ताकि खुद के समाज की दशा और दिशा सुनिश्चित करने के साथ ही दूसरे लोगों की भी ज़रुरत के समय काम आ सके। इसके लिए शिक्षा, स्वास्थ्य और सामाजिक समस्याओं का निराकरण करने जहां आपसी तालमेल बनाने की भावना से काम कर रहे हैं। वहीं यह प्रयास भी करने लगे है कि ऐसे लोग जो हादसे का शिकार हो जाते हैं। उनकी जिंदगी रक्तदान करके बचाई जा सके। इसके लिए कई समाज के युवाओं ने ग्रुप बनाकर सार्थक पहल शुरु की है। इसके लिए उनको समाज प्रमुखों से भी मार्गदर्शन मिलता है।

माहेश्वरी सभा... 400 से ज्यादा मरीजों की रक्तदान के जरिए की मदद

समाज के ग्रुप में डालते है मैसेज

अखिल भारतीय तैलिक महासभा की राष्ट्रीय महिला अध्यक्ष डॉ.ममता साहू ने बताया कि शिक्षा से जागरुकता बढ़ी है। करीब तीन साल से साहू समाज के 80 से ज्यादा युवाओं ने वाट्सएप ग्रुप के माध्यम से मरीजों का जीवन बचाने के लिए रक्तदाता के रुप में सेवा कर रहे हैं। हर साल 370 से ज्यादा लोगों को सहयोग देते हैं। केवल साहू ही नहीं बल्कि दूसरे समाज के मरीजों की भी मदद करते हैं। कर्मा माता जयंती और राजीम जयंती पर रक्तदान शिविर भी लगाते हैं। मैसेज पाकर डोनर संबंधित मरीज से सीधे अस्पताल में जाकर संपर्क करते हैं।

शिविर में समाज करता है मदद

स्टेशन रोड गुरुद्वारा के सचिव इन्द्रजीत सिंह ने बताया कि समाज के लोग हर साल गुरु गोविंद सिंह के प्रकाश उत्सव पर रक्तदान शिविर में करीब 150 से 200 यूनिट ब्लड डोनेट करते हैं। इसके अलावा समाज के लोगों ने अभी तक 4 हजार से ज्यादा मरीजों को अस्पताल में जाकर रक्तदान किया है। इसमें सिक्ख के अलावा दूसरे समाज के लोग भी है। ज्यादातर निजी अस्पतालों में एडमिट पेशेंट के परिजनों का ही मैसेज मिलता है।

माहेश्वरी सभा के जिला उपाध्यक्ष सुरज प्रकाश राठी और रक्तदाता समुह के हेमंत राठी ने बताया कि समाज की ओर से हर साल दो बार शिविर का आयोजन किया जाता है। ताकि ब्लड बैंकों से कोई ज़रुरतमंद वापस नहीं जाए। इसके अलावा समाज के रक्तदाता समुह से जुड़े 700 से ज्यादा सदस्य मिलने वाली सूचना के आधार पर अस्पतालों में जाकर सीधे मरीज के परिजनों से मिलकर उनको सहयोग देते हैं। ताकि उनका जीवन बचाया जा सके।

युवा डोनर के रूप में दे रहे सेवा

गोदड़ीवाला धाम के सेवादार अमर गिदवानी ने बताया कि सेवा के इस कार्य से करीब 27 साल से समाज जुड़ा है। देवपुरी में हर साल होने वाले वर्सी महोत्सव के मौके पर गोदड़ीवाला धाम रक्तदाता समिति के माध्यम से मरीजों की जान बचाने के लिए रक्तदान किया जाता है। इसके अलावा मरीजों तक पहुंचते हैं। करीब 1370 यूनिट से ज्यादा ब्लड 27 वर्षों में डोनेट किया गया है। यह प्रयास दूर-दराज से आने वाले मरीजों और सड़क दुर्घटना में घायल होने वालों का जीवन बचाने के लिए किया जाता है।

X
Raipur News - chhattisgarh news more than 1 thousand patients saved every year camping at social organization festivals
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना