दूसरे चरण की 3 सीटों पर भी नक्सल आतंक; इसलिए अतिरिक्त सुरक्षा के साथ ड्रोन से निगरानी, हेलिकॉप्टर से जाएंगे दल

Raipur News - लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण के अंतर्गत 18 अप्रैल को कांकेर, राजनांदगांव और महासमुंद सीटों मतदान होंगे। ये तीनों...

Bhaskar News Network

Apr 16, 2019, 07:30 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news naxal terror on 3rd phase of second phase so with drone monitoring with extra security the team will go from helicopter
लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण के अंतर्गत 18 अप्रैल को कांकेर, राजनांदगांव और महासमुंद सीटों मतदान होंगे। ये तीनों सीटें भी नक्सल प्रभावित हैं, इसलिए चुनाव आयोग व पुलिस ने सुरक्षा में कुछ बदलाव किया है। संवेदनशील इलाकों में जनप्रतिनिधियों के चुनाव प्रचार के दौरान ऐहतियात बरती जा रही है। मतदान के लिए सभी अति संवेदनशील मतदान केंद्रों की ड्रोन से निगरानी की जाएगी। बस्तर में 350 कंपनियां थीं। इन तीन सीटों के लिए इससे ज्यादा सुरक्षाकर्मी रहेंगे। 10 अप्रैल को बस्तर में भाजपा के इकलौते विधायक भीमा मंडावी और चार जवान शहीद हो गए थे। तब से पुलिस सतर्कता बरत रही है।

संवेदनशील बूथों पर पुख्ता सुरक्षा, सरहदों पर फोर्स का खास फोकस

कांकेर : 22 अतिसंवेदनशील मतदान केंद्र

कांकेर लोकसभा में विधानसभा की आठ सीटें हैं। इनमें छह अनूसूचित जनजाति और दो सामान्य के लिए आरक्षित हैं। करीब सभी सीटों पर आंशिक रूप से नक्सली साया है। अंतागढ़ पूरी तरह संवेदनशील है। यहां पखांजूर महाराष्ट्र सीमा से लगा है, जो नक्सल कॉरिडोर माना जाता है। भानुप्रतापपुर व कांकेर विधानसभा का भी कुछ भाग नक्सल प्रभावित हैं। यहां के 102 में से 22 मतदान केंद्र अतिसंवेदनशील हैं। 57 स्थानों पर दल हेलिकॉप्टर से भेजे जाएंगे। 20 हजार जवान तैनात रहेंगे।

महासमुंद : तीन विस के 154 बूथ संवेदनशील | महासमुंद लोकसभा के अंतर्गत विधानसभा की आठ सीटें आती हैं। इनमें सरायपाली, महासमुंद, कुरुद, बसना, राजिम, धमतरी, खल्लारी और बिंद्रानवागढ शामिल हैं। सरायपाली, खल्लारी और बिंद्रानवागढ़ विधानसभा में नक्सली साया है। यहां की करीब 154 मतदान केंद्र संवेदनशील हैं। यहां पर कुल 10 कंपनियां तैनात की जाएंगी।

राजनांदगांव: 6 विधानसभा में नक्सल साया

राजनांदगांव लोकसभा क्षेत्र में राजनांदगांव व कवर्धा दोनों जिले आते हैं। यहां के मोहला-मानपुर, खुज्जी, खैरागढ़, डोंगरगांव, डोंगरगढ़ और कवर्धा विधानसभा नक्सल प्रभावित हैं। हाल ही में मानपुर इलाके में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सभा के पहले ब्लास्ट कर नक्सलियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है। इस लिहाज से मतदान के पहले सुरक्षा उपलब्ध कराने के लिए पर्याप्त बल की व्यवस्था की जा रही है। राजनांदगांव में संवेदनशील मतदान केंद्रों की संख्या 256 है।

X
Raipur News - chhattisgarh news naxal terror on 3rd phase of second phase so with drone monitoring with extra security the team will go from helicopter
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना