महाराजबंद तालाब वाली रोड पर एनजीटी का फैसला जल्द

Raipur News - रायपुर| महाराजबंध तालाब से बूढ़ातालाब तक करीब पौने किलोमीटर की सड़क पर एनजीटी का फैसला जल्द आने वाला है। एनजीटी ने...

Bhaskar News Network

Jul 13, 2019, 07:35 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news ngt decision on road with mahabharat pond soon
रायपुर| महाराजबंध तालाब से बूढ़ातालाब तक करीब पौने किलोमीटर की सड़क पर एनजीटी का फैसला जल्द आने वाला है। एनजीटी ने निगम को कुछ दस्तावेज जमा करने के लिए कहा है। अफसरों का कहना है कि मांगे गए दस्तावेज पेश किए जाएंगे। मामले की सुनवाई अंतिम चरणों में है। जल्द ही इसका फैसला आ सकता है। यहां महत्वपूर्ण यह है कि एनजीटी का फैसला किसके पक्ष में आता है। दरअसल, तालाब पाटकर सड़क बनाई जाने को लेकर कुछ लोगों ने एनजीटी में याचिका लगाई थी। इसके बाद यहां का काम रोक दिया गया।



महामाया मंदिर से दूधाधारी मठ वाली रोड से महाराजबंध तालाब के किनारे से बूढ़ातालाब ढाल तक 570 मीटर की सड़क बनाने का का काम ढाई साल पहले शुरू हुआ। इसके लिए निगम ने वर्षों पुराने अवैध कब्जे हटाए। निगम ने यहां पर 100 फीट चौड़ी सड़क बनाने की योजना शुरू कर दी। योजना के तहत महाराजबंध तालाब को बूढ़ातालाब से जोड़ने की प्लानिंग की गई। सड़क बनना शुरू हुआ तब लोगों ने इसपर आपत्ति की। दरअसल, पुरानी बस्ती थाने से कैलाशपुरी ढाल तक मेन रोड है। महाराजबंध तालाब से कैलाशपुरी ढाल तक बनाई जा रही यह सड़क एक तरह से बाईपास होगी। इसके लिए 100 फीट सड़क की जरूरत ही नहीं थी। निगम यहां 30 से 40 फीट की भी सड़क बनाता, तो यहां पर आसानी से गाड़ियां आ-जा सकती हैं। एनजीटी में याचिका लगाने वालों ने कहा कि 100 फीट चौड़ी सड़क बनाने के लिए तालाब को 40 फीट तक पाट दिया गया। स्थानीय लोगों का आरोप है कि यहां तालाब के किनारे कुछ प्राइवेट जमीनें हैं। यह जमीन पुरानी सरकार में कुछ मंत्रियों के बेहद करीबी लोगों के हैं। उनकी जमीन को फायदा पहुंचाने के लिए ही इतनी चौड़ी सड़क का प्लान तैयार किया गया। महाराजबंध, दूधाधारी मठ और कुकरीपारा, महामाया मंदिर रोड घनी आबादी वाला है। चारों तरफ कहीं भी चौड़ी सड़क नहीं है। पतली और संकरी गलिया हैं। यहां कारें भी बहुत कम चलती हैं। इसके बावजूद सिर्फ पौन किलोमीटर की इस सड़क को 100 फीट चौड़ी बनाने को लेकर लोगों ने आपत्ति की। एनजीटी में याचिका लगाने के बाद सड़क पर रोक लगा दी गई। पिछले करीब दो साल से सड़क का काम रुका हुआ है। लोगों को उम्मीद है कि तालाब का जितना हिस्सा पाट दिया गया है उसे फिर से तालाब में शामिल कर जरूरत के मुताबिक सड़क बनाई जाए और तालाब का सौंदर्यीकरण किया जाए।

X
Raipur News - chhattisgarh news ngt decision on road with mahabharat pond soon
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना