एनआईटी स्टूडेंट्स ने डेवलप किए 5 यूजफुल स्टार्टअप फिंगर रीडर डिवाइस से ब्लाइंड को पढ़ने में मिलेगी हेल्प

Raipur News - एनआईटी में पढ़ रहे स्टूडेंट्स स्टडी के साथ स्टार्टअप पर भी फोकस कर रहे हैं। अपनी क्रिएटिविटी और टैलेंट के दम पर वे...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 07:31 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news nit students will help to read the blind from the 5 full startup fingerprint device
एनआईटी में पढ़ रहे स्टूडेंट्स स्टडी के साथ स्टार्टअप पर भी फोकस कर रहे हैं। अपनी क्रिएटिविटी और टैलेंट के दम पर वे अब तक 5 स्टार्टअप डेवलप कर चुके हैं, जिसकी वर्किंग, कॉर्डिनेशन, प्लानिंग, टेक्निकल इश्यू, सर्विस जैसे तमाम काम स्टूडेंट्स खुद कंट्रोल और अॉपरेट करते हैं। स्टूडेंट्स के स्टार्टअप आइडिया को प्रमोट करने के लिए इंस्टीट्यूट गाइडेंस के साथ फाइनेंशियल हेल्प भी कर रहा है। स्टडेंट्स के बनाए फिंगर रीडर डिवाइस से ब्लाइंड को पढ़ने में हेल्प मिलेगी। साथ ही स्मार्ट मीटर से बिजली चोरी रोकने, मैसेज में बिल, रीडिंग जैसी सुविधाएं मिलेंगी। इसके लिए अलग-अलग स्ट्रीम के स्टूडेंट्स ने जेनिथेक टेक वेयर, क्ले ग्लोबल नेटवर्क कंपनी, एआर वीआर हैंडसेट डेवलप किए हैं।

होगी वर्चुअल लैब, डिवाइस लगाकर कर सकेंगे एक्सपेरिमेंट

वर्चुअल लैब की तर्ज पर सीएस स्टूडेंट संवेग ठाकर और कुलदीप पिस्दा ने एआर वीआर हैंडसेट डेवलप किया है। दोनों स्टूडेंट लैब के खर्चे से छुटकारा दिलाने और कहीं भी एक्सपेरिमेंट करने की फैसिलिटी देने के मकसद से दिसंबर से इस डिवाइस पर काम कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस डिवाइस को लगाने के बाद स्टूडेंट्स लैब में एक्सपेरिमेंट करने जैसा फील करेंगे। एक्सपेरिमेंट के दौरान टीचर भी उसके कॉन्टेक्ट में रहेगा जो एनालिसिस करके बताएगा कि एक्सपेरिमेंट सही है या गलत। इसके लिए टीचर को कोड डालना होगा। इस साल नवंबर तक डिवाइस को कंप्लीट करने की प्लानिंग है।

एक मैसेज से जान सकेंगे कितनी खर्च हुई बिजली

सैय्यद नवीलुद्दीन, संकल्प अग्रवाल, प्रखर अग्रवाल और कार्तिकेय शंकर ने बिजली मीटर के लिए एक स्पेशल स्मार्ट बॉक्स ईएल इलेक्ट्रिका बनाया है। इसकी मदद से आप कभी भी कितनी बिजली खर्च हुई, ये जान सकेंगे। इसमें बिजली का बजट भी एड कर सकते हैं। बजट की आधा बिजली यूज करने पर अलर्ट मैसेज आएगा कि आपने आधा बिजली खर्च कर लिया है। ईएल इलेक्ट्रिका से होम ऑटोमेशन की सुविधा भी मिलेगी। जिसमें मैसेज करने से करेंट रीडिंग, खर्च, बिजली ऑन और ऑफ करना जैसे सभी काम कर सकते हैं। इससे बिजली चोरी रोकी जा सकती है। उन्होंने शुरुआत में एक स्मार्ट मीटर बनाया था जिसे डेवलप करके और अच्छा बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

अंजान लोगों तक पहुंचा सकते हैं अपनी बात

देवव्रत वर्मा, आर. केतन कुमार, अभय राठौर, आदित्य और डी. रूपेश कुमार ने क्ले ग्लोबल नेटवर्क कंपनी बनाई है। यह एक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है। स्टूडेंट्स ने बताया कि किसी इवेंट या फंक्शन में अगर आपको एक-एक व्यक्ति से बात करना हो तो मुश्किल होता है। इस परेशानी से बचने के लिए ये डेवलप किया गया है। इसकी मदद से कॉमन लैंडमार्क में रहते हुए आप वहां मौजूद लोगों से बिना अपनी जगह से हटे कनेक्ट हो सकते हैं। इसमें 200-300 मीटर दूरी में मौजूद कोई भी अंजान व्यक्ति से फोटो, मैसेज शेयर कर सकते हैं। यदि आपने किसी अंजान व्यक्ति से बात की है तो लोकेशन से हटते ही सारा शेयर डाटा भी हट जाएगा। इसे और बेहतर करने की प्लानिंग है। अभी 800 से ज्यादा लोग इसे यूज कर रहे हैं।

देते हैं डिजिटल मार्केटिंग जैसी कई सर्विसेस

सीएस स्टूडेंट्स संवेग ठाकर, वृहस पाठक और अमृता मिश्रा ने जेनिथेक टेक वेयर कंपनी डेवलप की है, जो दूसरी कंपनियों को टेक्निकल सर्विस प्रोवाइड करती है। अमृता ने बताया- कई कंपनियों को ऑनलाइन वर्किंग में दिक्कत आती है। जिन्हें हम सॉल्व करने के साथ ऑनलाइन प्रमोशन, वेबसाइट डेवलपमेंट, मोबाइल एप, डिजिटल मार्केटिंग, डिजाइनिंग जैसी कई सर्विस प्रोवाइड करते हैं। हम बिजनेस टू बिजनेस फैसिलिटी देते हैं। मार्च 2018 में कंपनी शुरू की थी, अब तक दो से ज्यादा प्रोजेक्ट भी पूरे चुके हैं। कुछ प्रोजेक्ट पर काम हो रहा है।

रिंग की तरह पहनना होगा डिवाइस, सुनाई देंगे शब्द

श्रेया चंद्राकार, मोहित सरीन, भरत गिदवानी, धीरज वर्मा, शिखर मिश्रा ने परसेप्शन एआई स्टार्टअप बनाया है। इसके तहत उन्होंने फिंगर रीडर नामक डिवाइस बनाई है। श्रेया ने बताया- ब्लाइंड लोगों के रीडिंग के लिए ब्रेल लिपि का ही इस्तेमाल किया जाता है। ब्रेल लिपि में लिखीं किताबों की संख्या भी कम है। साथ ही ब्रेल का प्रिंटिंग कॉस्ट सामान्य प्रिंटिंग से ज्यादा होता है। फिंगर रीडर डिवाइस में ब्लाइंड व्यक्ति को अपनी उंगली में इस डिवाइस को रिंग के रूप में पहनना होगा। इसमें एक मिनी कैमरा होगा। जब कोई ब्लाइंड कागज पर लिखे सामान्य शब्दों के ऊपर उस रिंग को चलाएंगे तो इमेज प्रोसेसिंग के जरिए शब्दों को स्पीच में कन्वर्ट कर देगा। इसके एक बैंड में ईयरफोन भी लगा सकते हैं। श्रेया ने बताया कि ऑब्जेक्ट डिडक्शन मोड पर काम चल रहा है।

Raipur News - chhattisgarh news nit students will help to read the blind from the 5 full startup fingerprint device
Raipur News - chhattisgarh news nit students will help to read the blind from the 5 full startup fingerprint device
Raipur News - chhattisgarh news nit students will help to read the blind from the 5 full startup fingerprint device
Raipur News - chhattisgarh news nit students will help to read the blind from the 5 full startup fingerprint device
Raipur News - chhattisgarh news nit students will help to read the blind from the 5 full startup fingerprint device
X
Raipur News - chhattisgarh news nit students will help to read the blind from the 5 full startup fingerprint device
Raipur News - chhattisgarh news nit students will help to read the blind from the 5 full startup fingerprint device
Raipur News - chhattisgarh news nit students will help to read the blind from the 5 full startup fingerprint device
Raipur News - chhattisgarh news nit students will help to read the blind from the 5 full startup fingerprint device
Raipur News - chhattisgarh news nit students will help to read the blind from the 5 full startup fingerprint device
Raipur News - chhattisgarh news nit students will help to read the blind from the 5 full startup fingerprint device
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना