कवियों ने पढ़ीं मौसम और राजनीति के बदलते मिजाज पर हास्य कविताएं

Bhaskar News Network

May 17, 2019, 07:40 AM IST

Raipur News - रायपुर | छत्तीसगढ़ हिंदी साहित्य मंडल ने गुरुवार को जैतू साव मठ में काव्य संध्या आयोजित की। यहां शहर के कवियों ने...

Raipur News - chhattisgarh news poets read humorous poems on the changing mood of weather and politics
रायपुर | छत्तीसगढ़ हिंदी साहित्य मंडल ने गुरुवार को जैतू साव मठ में काव्य संध्या आयोजित की। यहां शहर के कवियों ने अलग-अलग विषयों पर कविताएं पढ़ीं। सुनील पांडे ने राजनीति में कथनी और करनी पर व्यंग्य करते हुए कविता पढ़ी। इसके अलावा उन्होंने पढ़ा- ताजमहल तो आपका अब बन ही गया है माई-बाप, क्या फर्क पड़ता अगर मजदूरों के हाथ काट देंगे...। लतिका भावे ने मौसम के मिजाज पर पढ़ा- ग्रीष्म का हुआ आगमन, साथियों संभलना। गर्म थपेड़ों का हुआ चलन, साथियों संभलना...। संजीव ठाकुर ने- क्या हुआ यदि परिवार में दीवार है, दिलों में दीवार अच्छी नहीं होती। जिनके मन साफ नहीं होते, उनकी मनुहार अच्छी नहीं होती। सादगी पसंद हैं जो लोग, उनसे तकरार अच्छी नहीं होती। रूठना मनाना तो एक सलीका है, एकतरफा गुहार अच्छी नहीं होती...कविता पढ़ी। कार्यक्रम में कुमार जगदलवी, तेजपाल सोनी, शोभा देवी शर्मा, दुष्यंत साहू सहित अन्य मौजूद रहे।

X
Raipur News - chhattisgarh news poets read humorous poems on the changing mood of weather and politics
COMMENT