पहली बार चुनाव कराने वाले पांच कलेक्टरों ने जाने मतगणना के हर दांव-पेंच

Raipur News - राजधानी में मॉडल मतगणना केंद्र बनाकर सभी ग्यारह लोकसभा सीटों के निर्वाचन अधिकारियों को वोटों की गिनती की...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:25 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news the five collectors who took the election for the first time had to vote every ball of the ball
राजधानी में मॉडल मतगणना केंद्र बनाकर सभी ग्यारह लोकसभा सीटों के निर्वाचन अधिकारियों को वोटों की गिनती की ट्रेनिंग दी गई। मतगणना के दौरान आरओ, एआरओ और जिला निर्वाचन अधिकारियों की क्या भूमिका रहेगी। उन्हें किस तरह काम करना है। वोटों की गिनती में क्या क्या सावधानियां रखनी है। ऐसी तमाम बारीकियां इस प्रशिक्षण में बताई गई। अधिकारियों को टाइम मैनेजमेंट पर फोकस करने के लिए कहा है। ताकि नतीजों के ऐलान में देरी न हो। उन्होंने कहा कि इस बार पांच गुना ज्यादा मतदान केंद्रों की वीवीपैट पर्चियों का मिलान भी किया जाना है। इसलिए समय का प्रबंधन बेहद जरूरी होगा। राजधानी के नए रेस्ट हाउस में मॉडल मतगणना केंद्र बनाकर 23 मई को मतगणना केंद्र में किस तरह की व्यवस्थाएं की जानी है। इस बारे में अधिकारियों को विस्तार से जानकारी दी गई। मॉडल मतगणना केंद्र में ईवीएम, वीवीपैट के टेबल के इंतजाम कैसे होंगे। पोस्टल बैलेट के लिए किस तरह अलग कमरे में गिनती होगी ये भी बतलाया गया। सीईओ सुब्रत साहू ने सभी जिलों में मतगणना की तैयारियों में तेजी लाते हुए इसे अंतिम रूप देने के निर्देश जारी कर दिए हैं। प्रदेश के सभी 27 जिलों के कलेक्टरों को जारी निर्देश में उन्होंने कहा कि मतगणना केंद्र और इसके आसपास सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजाम किए जाएं। सुब्रत साहू ने सभी उम्मीदवारों को मिले बारे में भी आयोग के दिशा निर्देशों के बारे में जानकारी दी है। पांच पांच बूथों के वीवीपैट पर्चियों के मिलान को लेकर अधिकारियों और कर्मचारियों की ट्रेनिंग के निर्देश भी दिए गए हैं।

मॉडल मतगणना केंद्र में ईवीएम, वीवीपैट के टेबल के इंतजाम, पोस्टल बैलेंट की गिनती बताई गई

ऐसे हुआ डेमो... कलेक्टर बने मतगणनाकर्मी, सीईओ ने संभाला ऑब्जर्वर का काम

ट्रेनिंग के दौरान दिलचस्प नजारा देखने को मिला। जब सभी 11 लोकसभा सीटों के निर्वाचन अधिकारी के तौर काम कर रहे कलेक्टरों ने मतगणनाकर्मी बनकर सीईओ सुब्रत साहू से वोटों की गिनती की ट्रेनिंग ली। साहू ने इस दौरान ऑब्जर्वर की भूमिका निभाई। मॉडल मतगणना सेंटर बनाकर अफसरों को ट्रेनिंग देने के पीछे ये मकसद था कि गिनती के दिन किसी तरह की कोई गलतियां न हो। इस दौरान वोटों कैसे गिने जाएंगे। टेबल कुर्सी किस तरह रखी जाएगी। ऐसी छोटी -छोटी बातें भी सिखाई गई। इस लोकसभा चुनाव में 5 कलेक्टर पहली बार निर्वाचन अधिकारी के तौर पर लोकसभा चुनाव करवा रहे हैं। वहीं डीआरओ के तौर पर 8 कलेक्टर पहली बार लोकसभा चुनाव का दायित्व संभाल रहे हैं।

X
Raipur News - chhattisgarh news the five collectors who took the election for the first time had to vote every ball of the ball
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना