ट्रांसपोर्टरों ने बार्डर पर मांगे बेरियर कहा-ओवरलोडिंग से हमें नुकसान

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:26 AM IST

Raipur News - रायपुर | छत्तीसगढ़ में परिवहन विभाग के चेक पोस्ट (बेरियर) लगभग डेढ़ साल से बंद हैं और अब ट्रांसपोर्टर ही इसे खुलवाने...

Raipur News - chhattisgarh news transporters demand borders on the barrier overloading us loss
रायपुर | छत्तीसगढ़ में परिवहन विभाग के चेक पोस्ट (बेरियर) लगभग डेढ़ साल से बंद हैं और अब ट्रांसपोर्टर ही इसे खुलवाने के लिए सामने अा गए हैं। ट्रांसपोर्टरों ने दावा किया कि बेरियर नहीं होने से दूसरे राज्यों से ओवरलोड ट्रक यहां बड़ी संख्या में अा रहे हैं। इससे उनकी बुकिंग कम हो गई है और हालत ये है कि गाड़ियों की किश्तें नहीं पट पा रही हैं। ट्रांसपोर्टरों के प्रतिनिधिमंडल ने परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर से मिलकर बेरियर तुरंत शुरू करने की मांग की है। हालांकि मंत्री ने साफ कर दिया है कि इस मामले में फैसला शासन स्तर पर विचार-विमर्श के बाद लिया जाएगा।

एवं उडनदस्ता की व्यवस्था खत्म करने असर अब प्रदेश को सवा साै करोड़ रुपए से अधिक की आर्थिक क्षति हो रही है। राज्य सरकार को चेक पोस्ट एवं उड़नदस्ते की जांच प्रणाली से साल भर में 140 करोड़ रुपए का राजस्व प्राप्त होता था जो अब घटकर केवल 12 करोड़ रुपए रह गया है। यही नहीं जांच पड़ताल न होने तथा बेरियर बंद होने के कारण ट्रांसपोर्टरों को यह नुकसान हो रहा है कि वाहनो में बड़े पैमाने पर ओव्हर लोडिंग हो रही है।







यही वजह है कि ट्रांसपोर्टर भी चाहते हैं कि प्रदेश में आरटीओ बैरियर की व्यवस्था फिर से शुरु की जाए।

ट्रांसपोर्टरों के प्रतिनिधिमंडल में शामिल फतेसिंग संधु, सरबजीत सिंह, पलविन्दर सिंह, राजवेन्दर सिंह, तिजेन्दर सिंह एवं अन्य ने परिवहन मंत्री को बताया कि बेरियर बंद होने से ओवरलोड गाड़ियों की चेकिंग, मालवाहनों के रोड टैक्स की जांच एवं जीएसटी ई-वे बिल की जांच बंद है और इसलिए चोरी बढ़ गई है। दूसरे राज्यों से छत्तीसगढ़ लाकर चलाये जा रहे वाहनों की समयावधि बेरियर नहीं होने से तय नहीं हो पा रही है। दूसरी व्यवस्था नहीं है, इसलिए ऐसे वाहनों से स्थानीय ट्रांसपोर्टरों को खासा नुकसान हो रहा है। परिवहन विभाग ने भी बेरियर बंद होने के बाद सरकारी राजस्व को हुए नुकसान का अांकलन किया है। बताया गया कि चेक पोस्ट तथा उड़नदस्तों के सक्रिय रहने से राज्य को सालाना 140 करोड़ रुपए का राजस्व मिल रहा था, जो अब घटकर केवल 12 करोड़ रुपए ही रह गया है। इसलिए चेकपोस्ट, बेरियर तथा उड़नदस्तों की व्यवस्था चालू होनी चाहिए।

********

अवैध वसूली होगी : मूणत

पूर्व परिवहन मंत्री राजेश मूणत ने अारोप लगाया कि बेरियर खुलने से अवैध वसूली बढ़ जाएगी। उन्होंने कहा कि ट्रांसपोर्टरों के जरिए यह तर्क दिया जा रहा है कि बैरियर हटने से अवैध परिवहन और ओवरलोडिंग हो रही है। यह सही नहीं है क्योंकि चेकपोस्ट नहीं होने से सभी तरह की टैक्स चोरी रुक गई है क्योंकि जहां माल जा रहा है, वहां संबंधित करों का भुगतान सीधे हो रहा है।

X
Raipur News - chhattisgarh news transporters demand borders on the barrier overloading us loss
COMMENT