दुखभोग सप्ताह शुरू, बताया गया बुरे कामों से कैसे बचाता है यीशु

Raipur News - कम्युनिटी रिपोर्टर | रायपुर मसीहीजनों का दुखभोग सप्ताह सोमवार को शुरू हो गया। रविवार को चालीस दिन का उपवासकाल...

Bhaskar News Network

Apr 16, 2019, 07:25 AM IST
Raipur News - chhattisgarh news trouble begins the week how it saves from bad acts
कम्युनिटी रिपोर्टर | रायपुर

मसीहीजनों का दुखभोग सप्ताह सोमवार को शुरू हो गया। रविवार को चालीस दिन का उपवासकाल खत्म होने के बाद अब प्रभु यीशु की कलवरी यात्रा शुरू हो गई है। इस मौके पर अब रोज संध्या गिरजाघरों में विशेष प्रवचन हो रहे हैं। सेंट पॉल्स कैथेड्रल में जानेमाने बाइबिल विद अाशीष खंडेलवाल ने कहा कि प्रभु यीशु हमें शैतानी शक्तियों बुरे कामों से मुकाबला करने आध्यात्मिक शक्ति देते हैं। उन्होंने कहा कि मसीह दुनिया के उद्धार के लिए अपना जीवन अर्पित करने के लिए यरूशलेम में प्रवेश करते हैं। इजराइल के ईश्वर द्वारा फसह के सप्ताह को ‘मिस्र’ के पर्व के रूप में याद करने का निर्देश दिया गया था, ताकि प्राचीन मिस्र में दासता से इजरायलियों की आने वाली स्वतंत्रता का जश्न मनाया जा सके। इसलिए फसह की दावत मनाने के लिए लोग यरूशलेम में हमेशा की तरह इकट्ठे हुए थे, लेकिन इस बार उन्होंने यीशु का एक राजनैतिक राजा के रूप में स्वागत किया, जो उन्हें रोमन साम्राज्य के चंगुल से मुक्त कराएगा और शांति बहाल करेगा। इसलिए, उन्होंने सड़क पर अपने कपड़े बिछाकर और हाथों में ताड़ के पत्ते पकड़ कर उनका स्वागत किया और होशन्ना चिल्ला रहे थे। लेकिन हमें यरूशलेम में यीशु की उपस्थिति की वास्तविकता और अर्थ देखें कि वह “अनन्त राजा” के रूप में काम करता है। इसराइल के सभी लोगों के सामने गवाही दी जाए। एक गधे पर आने की भविष्यवाणी को पूरा करें। वह एक आध्यात्मिक राजा के रूप में स्वागत था। जो शैतान राजा के रूप में नहीं, बल्कि फसह के मेमने के रूप में शैतान की शक्ति से शारीरिक और आध्यात्मिक सुरक्षा प्रदान करता है।

X
Raipur News - chhattisgarh news trouble begins the week how it saves from bad acts
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना